Acidity दूर करने के लिए इन 5 फूड्स पर करें भरोसा, इन्हें खाने से नहीं होगी पेट और सीने में जलन

एसिडिटी की समस्या कभी न कभी हम सभी को होती है. ऐसे में एंटैसिड वाली दवाइयां खाने की बजाए अगर आप कुछ फूड्स को अपने रेग्युलर डाइट में शामिल कर लें तो एसिडिटी की ये दिक्कत कभी होगी ही नहीं.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Feb 24, 2021, 14:19 PM IST

नई दिल्ली: सबसे कॉमन बीमारियों या हेल्थ प्रॉब्लम्स की बात करें तो उसमें एसिडिटी का नंबर शायद इस लिस्ट में सबसे ऊपर होगा. इसका कारण ये है कि एसिडिटी की समस्या कभी न कभी हर किसी को होती है. न्यूट्रिशनिस्ट्स की मानें तो बहुत अधिक चाय-कॉफ़ी का सेवन करने, स्मोकिंग और अल्कोहल का सेवन करने, बहुत अधिक तला-भुना और मसालेदार भोजन करने या फिर कई लंबे समय तक भूखे रहने और कुछ न खाने की वजह से भी एसिडिटी की समस्या हो सकती है. जब पेट के गैस्ट्रिक ग्लैंड से बहुत अधिक एसिड निकलने लगता है तो पेट में गैस बनती है, पेट में जलन होने लगती है और खट्टी डकार भी आती है. इसे ही एसिडिटी कहते हैं.

1/6

एसिडिटी से बचाएंगे ये सुपरफूड्स

superfoods

एसिडिटी होने पर दवा खाने की बजाए अगर आप कुछ घरेलू नुस्खों को अपना लें तो ज्यादा बेहतर होगा. साथ ही में अगर आप अपनी डाइट में कुछ खास फूड्स को शामिल कर लें तो आपको कभी भी एसिडिटी की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा.

2/6

केला खाएं एसिडिटी की समस्या दूर भगाएं

banana

केला एक लो-एसिड फ्रूट है जो एसिडिटी की समस्या कम करने में मदद कर सकता है. दरअसल, केला हमारी भोजन नली की परत (एसोफेगल लाइनिंग) में कोटिंग बना देता है जिससे पेट के एसिड के यहां तक पहुंचने पर भी किसी तरह की दिक्कत महसूस नहीं होती. साथ ही केले में फाइबर भी अधिक होता है जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाकर अपच और बदहजमी से बचाता है. रोजाना एक केला खाएं कभी नहीं होगी एसिडिटी.

3/6

पेट को ठंडा करने में मदद करता है छाछ

buttermilk

अगर तीखा, मसालेदार और हेवी खाना खाने के बाद आपको भी एसिडिटी की समस्या हो रही है तो किसी भी तरह की एंटैसिड दवा का सेवन करने की बजाए 1 गिलास छाछ या बटरमिल्क पी लें. छाछ में लैक्टिक एसिड होता है जो पेट में एसिडिटी को नॉर्मल करने में मदद करता है. साथ ही यह लैक्टिक एसिड पेट की परत (लाइनिंग) पर एक खास तरह की कोटिंग कर देता है जिससे पेट में जलन और सीने में जलन जैसी अन्य समस्याएं नहीं होती. आप चाहें तो छाछ पीने की जगह दही भी खा सकते हैं. 

4/6

एसिडिटी दूर भगाएगा ठंडा दूध

cold milk

दूध पीने से भी एसिडिटी की समस्या दूर हो सकती है लेकिन याद रखें कि आपको गर्म नहीं ठंडा दूध पीना है. छाछ की ही तरह ठंडा दूध भी पेट में गैस्ट्रिक एसिड को रोकने में मदद करता है. साथ ही दूध कैल्शियम से भरपूर होता है जो पेट में एसिड बनने की प्रक्रिया को ही रोक देता है. लिहाजा अगली बार जब भी पेट में जलन, सीने में जलन या एसिडिटी के अन्य लक्षण महसूस हो रहे हों तो दवा की जगह ठंडे दूध का गिलास उठाएं.

 

5/6

ओटमील भी एसिडिटी में है मददगार

oatmeal

ओट्स भी हाई फाइबर फूड है जो एसिडिटी के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है. फाइबर कब्ज की समस्या दूर करने के साथ ही पेट को लंबे समय तक भरा रखने में भी मदद करता है. ऐसे में जब आपका पेट भरा हुआ महसूस होगा तो जाहिर सी बात है कि आप कम खाएंगे, ओवरईटिंग नहीं होगी और पेट में जो चीजें हैं वो लौटकर भोजन नली में वापस नहीं आएगीं तो एसिडिटी भी नहीं होगी.

6/6

हरी सब्जियां भी एसिडिटी को कर देंगी दूर

green veggies

पालक, ब्रोकली, गोभी, खीरा- ये कुछ ऐसी हरी सब्जियां हैं जो अल्कलाइन होती हैं यानी कि ये सब्जियां पेट और पाचन तंत्र दोनों के लिए बहुत अच्छी हैं. इन सब्जियों में प्राकृतिक रूप से फैट और शुगर की मात्रा बेहद कम यानी न के बराबर होती है और ये सब्जियां पेट में एसिड बनने की दिक्कत को भी कम कर देती हैं. लिहाजा रोजाना की डाइट में इन चीजों को शामिल करें और फिर देखें कैसे एसिडिटी दूर भागती है.

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें