माता वैष्‍णो देवी भवन की ओर जा रहे थे श्रद्धालु, एकाएक गिरने लगे पहाड़ से पत्‍थर, 3 घायल

जब श्रद्धालु मां वैष्णो देवी दर्शन के लिए भवन की ओर प्रस्थान कर रहे थे, तभी मां वैष्णो देवी के बैटरी कार मार्ग पर पंछी कॉलोनी क्षेत्र में एकाएक भूस्खलन हो गया. 

माता वैष्‍णो देवी भवन की ओर जा रहे थे श्रद्धालु, एकाएक गिरने लगे पहाड़ से पत्‍थर, 3 घायल

नई दिल्‍ली : माता वैष्णो देवी (Mata Vaishno Devi) के बैटरी कार मार्ग पर हुए भूस्खलन से मां वैष्णो देवी के दर्शन को आए 3 श्रद्धालु घायल हो गए. घायलों को इलाज के लिए श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (Shri Mata Vaishno Devi Shrine Board) के नारायण अस्पताल में रेफर किया गया है. घायल श्रद्धालुओं की पहचान ओमप्रकाश (49 साल), मुकेश कुमार (28 साल) और अमरीका सिंह (45 साल) के रूप में हुई है. सभी लखनऊ के रहने वाले हैं. घायलों का इलाज जारी है और सभी श्रद्धालु खतरे से बाहर हैं.

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार देर रात जब श्रद्धालु मां वैष्णो देवी दर्शन के लिए भवन की ओर प्रस्थान कर रहे थे, तभी मां वैष्णो देवी के बैटरी कार मार्ग पर पंछी कॉलोनी क्षेत्र में एकाएक भूस्खलन हो गया. इससे वहां से गुजर रहे श्रद्धालुओं में आपाधापी मच गई. इसी बीच 3 श्रद्धालु भूस्खलन की चपेट में आ गए. वहीं, दूसरी ओर सड़क मार्ग पर बना शेड भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया. 

भूस्खलन की सूचना मिलते ही तुरंत आपदा प्रबंधन दल के साथ ही श्राइन प्रशासन के कर्मचारी व अधिकारी तथा पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे. राहत व बचाव कार्य शुरू कर घायलों को इलाज के लिए तुरंत नारायण अस्पताल रवाना कर दिया गया. 

यह हादसा मंगलवार देर रात करीब 2 से 2:30 के बीच हुआ. भूस्खलन होते ही इस मार्ग पर श्रद्धालुओं की आवाजाही पूरी तरह से बंद कर दी गई. वहीं, इस मार्ग से पत्थर आदि हटाने का काम निरंतर जारी है. लिहाजा, वैष्णो देवी यात्रा पारंपरिक मार्ग से पूरी तरह से सुचारू हैं और श्रद्धालु पारंपरिक मार्ग से होकर निरंतर मां वैष्णो देवी के दर्शन कर रहे हैं. दूसरी ओर, बैटरी कार मार्ग बंद होने के कारण बैटरी कार सेवा भी स्थगित कर दी गई.

वहीं, बुधवार को दिनभर आसमान में घने बादल छाए रहे और दिनभर बर्फीली हवाएं चलती रहीं, लेकिन कटरा से चलने वाली हेलीकॉप्टर सेवा आम दिनों की तरह श्रद्धालुओं को उपलब्ध रही. दूसरी ओर वैष्णो देवी भवन तथा भैरव घाटी के मध्य चलने वाली पैसेंजर केबल कार सेवा भी आम दिनों की तरह सुचारू रही और श्रद्धालुओं ने इन सेवाओं का भरपूर लाभ उठाया. बीते 14 जनवरी को कुल 16,000 श्रद्धालुओं ने मां वैष्णो देवी के चरणों में हाजिरी लगाई तो 15 जनवरी को शाम 4 बजे तक करीब 9,000 श्रद्धालु अपना पंजीकरण करवाकर परिजनों के साथ वैष्णो देवी भवन की ओर प्रस्थान कर चुके थे और श्रद्धालुओं का आना निरंतर जारी था.