मंत्री सम्राट चौधरी के भाई रोहित ने थामा JDU का हाथ, कहा-ये उनका पुराना घर है
X

मंत्री सम्राट चौधरी के भाई रोहित ने थामा JDU का हाथ, कहा-ये उनका पुराना घर है

बिहार (Bihar) के तारापुर विधानसभा (Tarapur Assembly) क्षेत्र में हो रहे उपचुनाव को लेकर अब सारी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.

मंत्री सम्राट चौधरी के भाई रोहित ने थामा JDU का हाथ, कहा-ये उनका पुराना घर है

Patna: बिहार (Bihar) के तारापुर विधानसभा (Tarapur Assembly) क्षेत्र में हो रहे उपचुनाव को लेकर अब सारी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इस बीच, भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता और बिहार के मंत्री सम्राट चौधरी (Samrat Choudhary) के भाई रोहित चौधरी (Rohit Chaudhary) ने मंगलवार को जनता दल युनाइटेड (JDU) का दामन थाम लिया है.

ललन सिंह ने दिलाई सदस्यता

बिहार के दिग्गज नेता शकुनी चौधरी (Shakuni Chowdhary) के परिवार से आने वाले रोहित चौधरी को जदयू कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में जदयू की सदस्यता ग्रहण करवाई गई. JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने चौधरी को जदयू में शामिल करवाया. इस मौके पर जदयू के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) और बिहार के मंत्री विजय चौधरी (Vijay Choudhary)  भी उपस्थित थे.

JDU को बताया पुराना घर

जदयू में शामिल होने के बाद रोहित चौधरी ने नीतीश कुमार के प्रति आस्था जताते हुए कहा कि JDU उनका पुराना घर है. उन्होंने जदयू को अपना पुराना घर बताते हुए कहा कि यह मेरा पुराने घर जैसा है. राजनीतिक परिस्थितियों के कारण कुद वर्षों तक इधर-उधर रहा, लेकिन अब मैं फिर से अपने घर लौट आया हूं.

उन्होंने तारापुर से राजग के प्रत्याशी के 10 हजार से अधिक मतों से विजयी होने का दावा करते हुए कहा कि नि:संदेह तारापुर में जदयू की किसी से कोई लड़ाई नहीं है. उन्होंने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि किसी भी नेता के वहां कैंप करने से कोई फर्क नहीं पड़ता है.

उल्लेखनीय है कि मुंगेर की राजनीति में शकुनी चौधरी के परिवार का अहम रोल माना जाता है. यही कारण है कि तारापुर में मतदान के पूर्व रोहित का जदयू की सदस्यता ग्रहण करना एक बड़ा कदम माना जा रहा है. रोहित की वापसी को लेकर  शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि आदमी कहीं चला जाये, दिल वहीं रहता है, जो उसकी मूल पार्टी होती है. हम मानकर चलते हैं रोहित चौधरी कहीं भी रहे, जदयू के बारे में सोचते रहते थे. मज़बूरी में वो हम लोगों से अलग थे, अब हमारे साथ हैं. मुंगेर से लेकर खगड़िया तक इनकी विशेष मौजूदगी रही है.

यह भी पढ़िएः PM Kisan Yojna: किसान 31 अक्टूबर तक जरूर कर लें ये काम तो खाते में आएगी दोगुनी 4000 किस्त

गौरतलब है कि बिहार में दो सीटों कुशेश्वरस्थान और तारापुर विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव हो रहा है. इस उपचुनाव में महागठबंधन में फूट पड़ गई है और दो घटक दल Congress और RJD अपने-अपने प्रत्याशी उतार दिए हैं. राजग की ओर से जदयू के प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.

 

Trending news