close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुश्किल में महागठबंधन! तेजस्वी और मांझी के तेवर पर कांग्रेस ने कहा- हमें पता है हैसियत

कांग्रेस पर तेजस्वी यादव और जीतनराम मांझी ने तेवर दिखाए हैं. जिस पर कांग्रेस ने भी जवाब दिया है.

मुश्किल में महागठबंधन! तेजस्वी और मांझी के तेवर पर कांग्रेस ने कहा- हमें पता है हैसियत
महागठबंधन में सीटों को लेकर फिर घमासान शुरू हो गया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव के लिए दो दिन बाद प्रत्याशियों के नोमिनेशन की प्रक्रिया शुरू होनेवाली है. लेकिन बिहार महागठबंधन में अब तक सीट शेयरिंग का पेंच तक नहीं सुलझ पाया है. हालांकि सभी दलों का कहना है कि सारी चीजें तय हैं. लेकिन इसके बाद भी आरजेडी और हम अपने सहयोगी दल कांग्रेस को ही तेवर दिखा रही है. वहीं, कांग्रेस भी अपने जिद पर अड़ी हुई है. ऐसे में माना जा रहा है कि महागठबंधन मुश्किलों में फंसा हुआ है.

सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस के 11 सीटों पर महागठबंधन में घमासान मचा है. महागठबंधन के सहयोगी दल कांग्रेस को निशाना बना रहे हैं. यहां तक कांग्रेस को बिहार में अपनी हैसियत दिखा रहे हैं. हम पार्टी के प्रमुख जीतनराम मांझी ने कहा है कि आज के दौर में हमारी पार्टी कांग्रेस से कम नहीं है. वहीं, तेजस्वी यादव ने भी कांग्रेस को सीटों के लिए अहंकार नहीं करने की नसीहत दे दी है.

जीतनराम मांझी ने शनिवार को पार्टी के संसदीय बोर्ड की मीटिंग के बाद कहा कि उन्हें अगर पांच सीट दे दी जाए तो उनकी सारी समस्या खत्म हो जाएगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस से हमारी हैसियत कम नहीं है. इसलिए वह जीतना सीट मांग रही है उससे आधी सीट तो हमें मिलनी ही चाहिए.

वहीं, इस बयान के बाद तेजस्वी यादव ने भी ट्विट कर कांग्रेस को नसीहत देते हुए कहा कि, 'अगर अपनी चंद सीटें बढ़ाने और सहयोगियों की घटाने के लिए अहंकार नहीं छोड़ा तो संविधान में आस्था रखने वाले न्यायप्रिय देशवासी माफ़ नहीं करेंगे.' तेजस्वी यादव के इस ट्विट के बाद ही कांग्रेस ने रविवार को होने वाले सीटों के ऐलान पर रोक लगा दी और इसकी तारीख को आगे बढ़ा दिया. माना जा रहा है कि 18 को अब बैठकों के बाद ऐलान हो सकता है.

वहीं, जीतनराम मांझी के बयान को आरजेडी के प्रवक्ता शिवानंद तिवारी ने भी सही ठहराया. और कहा कि कांग्रेस को 11 सीट मांगने का कोई अधिकार नहीं है. शिवानंद तिवारी के बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता हरखू झा ने कहा कि कांग्रेस की हैसियत पूरा विश्व जानता है. कांग्रेस ने 60 सालों तक देश पर राज किया है. कांग्रेस के आलाकमान तय करेंगे कि हमें कितनी सीट पर चुनाव लड़ना है उसके बाद ऐलान कर दिया जाएगा.

कांग्रेस नेता सदानंद सिंह ने भी कड़े शब्दों में कहा कि शिवानंद तिवारी और मांझी क्या बोलते हैं उससे कोई फर्क नहीं पड़ता है. हमारा गठबंधन मुख्य पार्टी आरजेडी से है. इसलिए तेजस्वी यादव और लालू यादव क्या बोलते हैं उस पर सोचा जाएगा. उन्होंने कहा कांग्रेस की हैसियत 11 सीटों से अधिक है. इसलिए हमें हैसियत नहीं दिखाया जाए.