झारखंड में कलाकारों के लिए दीवारें बनी Canvas, उतारी संस्कृति की आकृतियां

Jharkhand Samachar: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) के निर्देश के बाद झारखंड राज्य शहरी विकास प्राधिकरण के तहत रांची नगर निगम ने रमणीक रांची अभियान की पहल की है.

झारखंड में कलाकारों के लिए दीवारें बनी Canvas, उतारी संस्कृति की आकृतियां
झारखंड में कलाकारों के लिए दीवारें बनी कैनवास. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Ranchi: झारखंड की राजधानी रांची सहित अन्य शहरों की दीवारें अब स्थानीय कलाकारों के लिए कैनवास (Canvas) बन गई हैं. यहां यह कलाकार अपनी कूचियों से रंग भरने में जुटे हैं.  इन दीवारों पर कलाकार झारखंड की संस्कृति की आकृतियां उकेर रहे हैं. दीवारों पर उकेरी गईं आकृतियां यहां की संस्कृति से लोगों को अवगत करा रही हैं और रंग-बिरंगी पेंटिंग लोगों को पसंद भी आ रही हैं. वहीं, कलाकारों की यह पेंटिंग स्वच्छता के प्रति जागरूकता का संचार करने और झारखंड के शहरों को एक विशिष्ट पहचान भी दे रही हैं. 

ये भी पढे़ंः 7th Pay Commission: अस्थाई शिक्षकों को बड़ा तोहफा, सीएम सोरेन ने बनाया Welfare Fund

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) के निर्देश के बाद झारखंड राज्य शहरी विकास प्राधिकरण के तहत रांची नगर निगम (Ranchi Nagar Nigam) ने रमणीक रांची अभियान की पहल की है. शहर की जो दीवारें कल तक दाग-धब्बों और गंदगी से भरी थीं. वह आज आकर्षण का केंद्र बन गई हैं. इधर, प्राधिकरण के अधिकारी बताते हैं कि युवा इन दीवारों को सेल्फी प्वाइंट के रूप में इस्तेमाल करने लगे हैं और पर्यटक भी राज्य सरकार की इस अनूठी पहल की सराहना करते सोशल मीडिया (Social Media) पर भी साझा कर रहे हैं. 

बता दें कि कुछ दिनों पहले सीएम बिरसा स्मृति पार्क (Birsa Smriti Park) के निरीक्षण के बाद शहर का निरीक्षण करने निकले थे. इसी दौरान उन्होंने राजधानी रांची के प्रमुख स्थलों का निरीक्षण किया था. सड़क किनारे दाग-धब्बों से भरी दीवारों को देख मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को शहर की साफ-सफाई और सौंदर्यीकरण पर बड़े पैमाने पर काम करने का निर्देश दिया था. इसी निर्देश के बाद शहर की सभी दीवारों पर पेंटिंग का कार्य प्रारंभ किया गया है. 

वहीं, रांची को खूबसूरत बनाने के लिए शहर के 10 स्थानों पर ग्रीन वॉल का निर्माण किया जा रहा है. मोरहाबादी, सहजानंद चौक, हिनू, धुर्वा समेत अन्य महत्वपूर्ण स्थानों का इसके लिए चयन किया गया है. इस संबंध में अधिकारी ने बताया कि शहर के 450 स्थानों पर जमे कचरे को हटाने का कार्य किया जा रहा है. शहरों को खूबसूरत बनाने की पहल कोयला खदानों, स्टोन क्रशर, फैक्ट्री और ईंट की चिमनियाों से भरे रामगढ़ में भी दिख रही है. रामगढ़ जिला प्रशासन ने स्वयंसेवी संस्थाओं और स्थानीय कलाकारों के सहयोग से पेंट माय सिटी अभियान की शुरूआत की है.

ये भी पढे़ंः Jharkhand में पोर्टल के माध्यम से होगी ऑनलाइन बालू की खरीदी, हेराफेरी पर लगेगा अंकुश: हेमंत सोरेन

राज्य सरकार द्वारा इन कलाकारों को आवश्यक उपकरण और पेंट सामग्री उपलब्ध कराई गई है. यहां के 300 से अधिक सरकारी भवनों, स्कूलों एवं अन्य स्थानों को जागरूकता से संबंधित संदेशों को पारंपरिक झारखंडी चित्रों के माध्यम से चित्रित किया गया है और शहर की दीवारों को पारंपरिक और मॉडर्न आर्ट से पेंट किया जा रहा है. 

(इनपुट-आईएएनएस)