कोरोनावायरस का कहर जारी, ''बिहार का कश्मीर'' हुआ बंद

Bagaha Samachar: हरी-भरी वादियों के बीच प्रकृति की गोद मे बसा वाल्मीकि नगर बिहार का कश्मीर कहा जाता है.

कोरोनावायरस का कहर जारी, ''बिहार का कश्मीर'' हुआ बंद
''बिहार का कश्मीर'' हुआ बंद.

Bagaha: बगहा के एकमात्र वाल्मीकि टाइगर रिजर्व इक्को टूरिज्म (Valmiki Tiger Reserve Ecco Tourism) कोरोना (Corona) काल में सरकार के अगले आदेश तक बन्द कर दिया गया है .वाल्मीकिनगर, मन्गुराहा व गोवर्धना में पर्यटकों के आने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. साथ हीं, पहले से बुक किए गए पर्यटकों की बुकिंग को भी रद्द कर दिया गया है. बिहार सरकार के गृह विभाग के आदेश के आलोक में विटीआर प्रशासन ने 15 मई तक पर्यटन पर रोक लगा दी है. पर्यटकों से गुलजार रहने वाला वाल्मीकि टाइगर इक्को टूरिज्म अब वीरान पड़ गया है. 

ये भी पढ़ेंः Corona के समय क्या कहता है homeopath? संक्रमण से बचाव के लिए इन चीजों का करें सेवन

हरी-भरी वादियों के बीच प्रकृति की गोद मे बसा वाल्मीकि नगर बिहार का कश्मीर कहा जाता है. इंडो नेपाल बॉर्डर (Indo-Nepal Border) पर गण्डक बराज की खूबसूरती नारायणी की कल-कल बहती धारा और ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों पर हरियाली देखकर लगता है कश्मीर में पर्यटक आ गए है. यंहा का जंगल कैम्प बम्बू हाट पार्क, बोटिंगऔर  झूला सफारी सभी पर एक बार फिर कोरोना का कहर पड़ा है. बता दें कि दूर दूर से लोग सैलानी प्रकृति की गोद मे बसे वाल्मीकि टाइगर रिजर्व का दीदार करने आते है. कोरोना की वजह से अब उन्हें फिर इंतजार करना पड़ेगा.

वीटीआर के गर्भ में बसे धार्मिक स्थलों को पहले ही सरकार के आदेश के आलोक में बंद कर दिया गया था. वहीं, कौलेशवर  झूला मरम्मती के कारण बंद है एवं गंडक नदी में मोटर बोट सफारी गंडक नदी में पानी का लेवल कम होने के चलते बंद है. साथ ही सरकार के आदेश को गंभीरतापूर्वक लेते हुए वन क्षेत्र अधिकारियों द्वारा वाल्मिकीनगर, मंगुराहा, गोवर्धना व हरनाटाड़ नौरंगिया दोन  ईको टूरिजम सेंटर को बंद कर दिया गया है. वीटीआर प्रशासन की ओर से कोरोना को लेकर हाई अलर्ट कर चौकसी शुरू कर दी गई है.

ये भी पढ़ेंः कोरोना ने बदली लोगों की आदतें, शहर से लेकर गांव में हो रही ऑनलाइन खरीदारी

इस संबंध में वीटीआर वन प्रमंडल एक व दो के डीएफओ सह उप निदेशक डॉक्टर नीरज नारायण व अम्बरीष कुमार मल्ल ने कोरोना को लेकर बिहार सरकार के गृह विभाग के  आदेश  के आलोक में  ईको टूरिजम सेंटर बंद रखने का जानकारी दी है.  इसकी जानकारी देते हुए डीएफओ सह उप निदेशक डॉक्टर नीरज नारायण व अम्बरीष कुमार मल्ल  ने बताया कि इस दौरान वाल्मिकीनगर, मंगुराहा व गोवर्धना टूरिस्ट सेंटर में पर्यटकों का बुकिंग बंद रहेगी. साथ हीं, कोई भी पर्यटक इस बंदी के दौरान ईको टूरिजम सेंटर मे नहीं आ सकेंगे. वहीं, जिन पर्यटकों द्वारा  बुकिंग कराई गयी थी, उनकी बुकिंग को रद्द कर दिया गया  है.  इसके चलते ही, जंगल सफारी समेत सभी पर्यटकों का दर्शनीय स्थल को बंद कर दिया गया है.  डीएफओ डॉक्टर नरायण  ने बताया कि बिहार सरकार के गृह विभाग के आदेश पर आगामी 15 मई तक टूरिज्म बंद रहेंगे.

(इनपुट-धनंजय द्विवेदी)