बिहार दिवस आज, उपराष्ट्रपति और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं

बिहार आज अपना 106वां स्थापना दिवस मना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्टीट कर बिहारवासियों को शुभकामनाएं दी है.

बिहार दिवस आज, उपराष्ट्रपति और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
बिहार दिवस पर पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार आज अपना 106वां स्थापना दिवस मना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्टीट कर बिहारवासियों को शुभकामनाएं दी है. वहीं, उपराषट्रपति वैंकेया नायडू ने भी बिहार दिवस की शुभकामनाएं दी है. पीएम मोदी ने कहा राष्ट्र निर्माण में बिहार का अनुकरणीय और अमूल्य योगदान रहा है. पीएम के शुभकामना संदेश पर धन्यवाद देते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, 'बिहार दिवस के अवसर पर बिहारवासियों को शुभकामनाएं देने हेतु माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद.'

बिहार दिवस कार्यक्रम में शामिल होंगे उपराष्ट्रपति
पटना के गांधी मैदान में शाम चार बजे से आयोजित बिहार दिवस कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, राज्यपाल सत्यपाल मलिक, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी शामिल होंगे. नायडू ने ट्वीट कर कार्यक्रम में शामिल होने की जानकारी दी.

पढ़ें- पप्‍पू यादव बोले- बिहार को भी मिले विशेष राज्‍य का दर्जा, लोकसभा में चाहते हैं जल्‍द चर्चा

पीएम मोदी ने ट्वीट कर दी शुभकामनाएं
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार दिवस के अवसर पर ट्वीट कर शुभकामनाएं दी है. उन्होंने लिखा, 'बिहार दिवस पर बिहार की बहनों और भाइयों को हार्दिक शुभकामनाएं. इतिहास काल से राष्ट्र निर्माण में बिहार का अनुकरणीय और अमूल्य योगदान रहा है.

 

गिरिराज सिंह ने भी दी शुभकामनाएं
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी ट्वीट कर बिहार दिवस के अवसर पर राज्य के लोगों को शुभकामनाएं दी. उन्होंने लिखा, 'समस्त बिहारी को बिहार दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं. आप जहां भी रहें अपने राज्य बिहार का और आप अपना डंका बजाते रहें.'

पढ़ें- स्कॉटलैंड में मनाया गया बिहार दिवस

स्कॉटलैंड में मनाया गया बिहार दिवस
स्कॉटलैंड के पूर्वी आयरशायर क्षेत्र में स्थित पटना नाम के एक छोटे शहर में बिहार की राजधानी के साथ उसके ऐतिहासिक संबंधों को मनाने के लिए बिहार दिवस का अयोजन किया गया. स्कॉटलैंड के कृषक विलियम फुलर्टन ने उनके स्केलडन स्टेट एवं कोयले के खदानों में काम करने वाले लोगों को आवासीय सुविधा प्रदान करने के लिए 1802 में एक छोटा सा शहर बसाया था जिसका नाम उन्होंने बिहार की राजधानी पटना के नाम पर रखा था. फुलर्टन का जन्म पटना में हुआ था और उन्होंने वहां काफी वक्त बिताया था.