कोरोना के बीच गरीबों के लिए राहत, महामारी में तैयार हुई कोविड चालीस की टीम

Garhwa Samachar: कोविड चालीस का मतलब है कि अधिकारी एवं समाजसेवी की 40 सदस्यीय एक ऐसी टोली जो इस कोरोना में गरीब असहाय लोगों की मदद करेगी. 

कोरोना के बीच गरीबों के लिए राहत, महामारी में तैयार हुई कोविड चालीस की टीम
महामारी में तैयार हुई कोविड चालीस की टीम

Garhwa: देश मे कोरोना (Corona) महामारी के बीच लोग जहां दो वक्त की रोटी के लिए प्रतिदिन फिराक में रहते है. वंही गढ़वा में अधिकारियों एवं समाजसेवियों की टीम की एक नई और अनूठी पहल देखने को मिल रही है. कोरोना के इस काल को देखते हुए कोविड (Covid) चालीस नाम की एक टीम तैयार की है. यह टीम गरीब असहाय लोगो को मदद करेगी. 

ये भी पढ़ेंः Bokaro: 18+ के लोगों के लिए वैक्सीनेशन शुरू, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चास में लगाया जा रहा टीका

दरअसल, कोविड चालीस का मतलब है कि अधिकारी एवं समाजसेवी की 40 सदस्यीय एक ऐसी टोली जो इस कोरोना में गरीब असहाय लोगों की मदद करेगी. साथ हीं, भूख से न तड़प रहे लोगों को चिन्हित कर इनके घर तक यह टीम मदद पहुंचाएगी. इसकी शुरुआत शहर के टाउन हॉल से की गई. यह टीम जरूरत की सामानों को खरीदकर गरीब असहायों के बीच वितरण करेंगी. 

इधर, शहर के टाउन हॉल के मैदान में लगने वाले सब्जी मंडी में जाकर बीडीओ कुमुद झा एवं अन्य समाजसेवीयों ने दो दुकानदारों की पूरी सब्जी खरीदी और स्टेशन रोड एवं झुग्गी झोपड़ी में रह रहे लोगो के बीच सारी सामग्री का वितरण की. वहीं, पहले तो अपने बीच अधिकारियों को देख कर  लोग घबरा गए. लेकिन सब्जी के साथ अधिकारियों को देखा तो वह खुशी से फुले नहीं समाए. 

ये भी पढ़ेंः Ranchi: कोरोना की दूसरी लहर में मौत से आंख मिचौली खेल रहे लोग, जानिए कैसे

इस संबंध में अधिकारी कुमुद झा ने बताया कि इस टोली के प्रत्येक सदस्य पांच-पांच हजार की मदद कर रहे है. जो कुल मिलकर एक बड़ी अमाउंट जमा हो रही है. वे लोग ऐसे इलाके को चिन्हित कर रहे है जो इस कोरोना काल में परेशाना है. वहीं, उन्होंने बताया कि  ऐसे लोगों के बीच वह जाकर उनकी जरूरत की सारी सामग्री जैसे राशन, दूध, सब्जी, दवा उपलब्ध में करा रहे है. इसी कम्र में कोरोना के इस विभीषका के बीच कोविड चालीस की यह मुहिम वाकई में गरीबों को भगवान से मिले वरदान से कम नहीं है.

(इनपुट-चंदन कश्यप)