Corona Vaccine: वैक्सीनेशन से पहले आज 736 जिलों में एक साथ ड्राई रन, जानें कब शुरू होगा टीकाकरण

Corona Vaccine Dry Run: वैक्सीनेशन की तैयारियों को परखने के लिए आज देशभर के 736 जिलों में ड्राई रन का आयोजन किया जा रहा है. इससे पहले 2 जनवरी को देशभर के 125 जिलों के 285 केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन किया गया था. 

Corona Vaccine: वैक्सीनेशन से पहले आज 736 जिलों में एक साथ ड्राई रन, जानें कब शुरू होगा टीकाकरण
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) पर रोकथाम के लिए सरकार ने 2 कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) को मंजूरी दी है, जिसके बाद अब देश में टीकाकरण शुरू करने की तैयारी है. वैक्सीनेशन से पहले शुक्रवार (आज) को देशभर में सबसे बड़ा ड्राई रन किया जाएगा, जिसमें वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को परखा जाएगा.

736 जिलों में होगा ड्राई रन का आयोजन

वैक्सीनेशन से पहले आज उत्तर प्रदेश और हरियाणा को छोड़कर देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के टीकाकरण का ड्राई रन किया जाएगा. इसके तहत देशभर के 736 जिलों में ड्राई रन का आयोजन किया जाएगा.

लाइव टीवी

ये भी पढ़ें- Corona Vaccine के खिलाफ दुष्प्रचार के लिए सोशल मीडिया पर बने कई पेज, न आएं बहकावे में

2 जनवरी को 125 जिलों में हुआ था ड्राई रन

इससे पहले 2 जनवरी को देशभर के 125 जिलों के 285 केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन किया गया था. इसके बाद गुजरात, पंजाब और असम के अलावा कई राज्यों से अच्छे रिजल्ट आए थे. फिर सरकार ने पूरे देश में ड्राई रन करने का फैसला किया है. इससे पहले 28 और 29 दिसंबर को देश के 4 राज्यों में ड्राई रन का आयोजन किया गया था.

डॉ हर्षवर्धन ने की राज्यों के साथ बैठक

ड्राई रन से पहले केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन (Dr. Harsh Vardhan) ने गुरुवार को राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा बैठक की थी. बैठक के बाद उन्होंने कहा कि हमें राज्‍यों से वैक्‍सीन को लेकर फीडबैक मिले हैं और हमने इसके आधार पर जरूरी सुधार भी किए है. इसके साथ ही उन्होंने वैक्सीन के खिलाफ फैलाए जा रहे दुष्प्रचार पर चिंता जताया और कहा कि इससे टीकाकरण की तैयारियों को धक्का लग सकता है.

ड्राई रन में क्या होगा?

ड्राई रन (Dry Run) में वैक्सीन की डोज देने की पूरी प्रक्रिया का पालन किया जाता है. इस दौरान कनेक्टिविटी, इंफ्रास्ट्रक्चर, रेफ्रिजरेशन और ट्रांसपोर्टेशन को परखा जाएगा. इस दौरान यह भी देखा जाएगा कि जिन जिलों में वैक्सीन को स्टोर किया जाना है, वहां से राज्य के आखिरी पॉइंट तक पहुंचने में कुछ दिक्कत तो नहीं आ रही है. इसके अलावा वैक्सीनेशन सेंटर पर सोशल डिस्टेंसिंग को कैसे मेंटेन किया जाएगा, इसकी भी जांच की जाएगी. टीकाकरण का सारा डाटा कोविन (Co-Win) ऐप पर अपलोड किया जाना है तो ड्राई रन के दौरान यह भी देखा जाएगा कि डाटा अपलोग में कोई दिक्कत तो नहीं आ रही है.

ये भी पढ़ें- Corona Vaccine: इंजेक्शन से मिलेगी मुक्ति, शुरू हो रहा नेजल स्प्रे का ट्रायल

देश में 2 वैक्सीन को मिली है इस्तेमाल की मंजूरी

बता दें कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 3 दिसंबर को सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड (Covishield) और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन (Covaxin) के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दे दी थी. इससे पहले वैक्सीन को लेकर बनी एक्सपर्ट कमेटी (SEC) ने 1 जनवरी को कोविशील्ड और 2 जनवरी को कोवैक्सीन को अनुमति दी थी. अब डीसीजीआई से मंजूरी मिलने के बाद भारत में वैक्सीन का इस्तेमाल शुरू हो जाएगा.

13 या 14 जनवरी को शुरू हो सकता है टीकाकरण

देशभर में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का टीकाकरण 13 या 14 जनवरी से शुरू किया जा सकता है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से इसको लेकर कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन मंत्रालय ने मंगलवार को बताया था कि वैक्सीन को मंजूरी मिलने 10 दिन बाद टीकाकरण का कार्यक्रम शुरू हो सकता है.

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.