ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मैं अपने दोस्त टोनी को ना नहीं कह सका : PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अपने ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष टोनी एबोट के साथ द्विपक्षीय वार्ता की। इसके साथ ही मोदी ने ऑस्ट्रेलियाई संसद को संबोधित किया। ऑस्ट्रेलियाई संसद को संबोधित करने वाले मोदी विश्व के पहले नेता बन गए हैं।

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मैं अपने दोस्त टोनी को ना नहीं कह सका : PM मोदी

ज़ी मीडिया ब्यूरो/आलोक कुमार राव

कैनबरा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अपने ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष टोनी एबोट के साथ द्विपक्षीय वार्ता की। इसके साथ ही मोदी ने ऑस्ट्रेलियाई संसद को संबोधित किया। ऑस्ट्रेलियाई संसद को संबोधित करने वाले मोदी विश्व के पहले नेता बन गए हैं। पीएम मोदी आज की रात फिजी रवाना हो जाएंगे। फिजी की एक दिन की यात्रा के साथ ही मोदी की 10 दिनों की तीन देशों के दौरे का समापन हो जाएगा। 

आज के ताजा घटनाक्रम-

3:00 बजे : लोगों ने मुझसे पूछा कि क्या ऑस्ट्रेलिया जाना थोड़ी जल्दी नहीं होगी क्योंकि टोनी एबोट अभी-अभी भारत से गए हैं। मैंने कहा कि मैं अपने दोस्त टोनी को ना नहीं कह सकता। मोदी ने कहा कि टोनी एबोट सितंबर में भारत आए थे। राजग की सरकार बनने के बाद भारत का दौरा करने वाले वह पहले अतिथि थे।

2:55 बजे : मेलबर्न में क्रिकेट ग्राउंड में पीएम मोदी ने कहा कि देश को जोड़ने में कूटनीति कितना काम करती है, इसे मैं नहीं जानता लेकिन देशों को जोड़ने में दिलों की मस्ती बहुत काम करती है। दोनों देशों में बहुत सारी समानताएं हैं। भारत और ऑस्ट्रेलिया दो लोकतांत्रिक देश हैं। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच संबंध और प्रगाढ़ होंगे।

2:25 बजे : मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में मोदी ने वर्ल्ड कप ट्राफी 2015 का अनावरण किया। इस मौके पर आस्ट्रेलिया के पीएम टोनी एबोट, भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी सुनील गावस्कर, कपिल देव और वीवीएस लक्ष्मण मौजूद थे।

1:57 बजे : पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत-आस्ट्रेलिया के संबंध भविष्य में और आगे बढ़ेंगे। मोदी ने कहा कि मेरी यात्रा का आज समापन हो रहा है लेकिन हमारे रिश्ते की शुरुआत हो रही है।

1:55 बजे : मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में आयोजित समारोह में पीएम मोदी ने अपनी बात रखी। इस समारोह की मेजबानी ऑस्ट्रेलिया के पीएम टोनी एबोट ने की।  

12:41 बजे : मोदी ने कारोबारियों को भरोसा दिया कि भारत अपने यहां विश्व स्तरीय बंदरगाह का निर्माण कराएगा।

12:10 बजे : पीएम मोदी ने सीईओ का ध्यान भारत में पर्यटन क्षेत्र में विकास की संभावनाओं की ओर खींचा। उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र में निवेश की अपार संभावनाएं हैं।

11:20 : पीएम मोदी की ऑस्ट्रेलिया के कारोबारियों के साथ बातचीत चल रही है। मोदी ने कहा, 'लोकतांत्रिक मूल्य हमें आपस में जोड़ते हैं। मैं आप सभी लोगों को सुनना चाहता हैं।'

10:18 बजे : पीएम मोदी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया की संसद को संबोधित करने का अवसर पाकर वह 'सम्मानित' महसूस कर रहे हैं।

9:42 बजे : पीएम मोदी शाम 4:40 बजे फिजी के लिए रवाना होंगे।

9:10 बजे : एबोट दिन में 2:30 बजे पीएम मोदी के लिए भोज का आयोजन करेंगे।

9: 05 बजे : ऑस्ट्रेलियाई पीएम टोनी एबोट अपने भारतीय समकक्ष मोदी के लिए दिन के 1:30 बजे मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर स्वागत समारोह की मेजबानी करेंगे। इसके बाद पीएम मोदी और एबोट क्रिकेट विश्व कप 2015 की ट्रॉफी के साथ तस्वीर खिंचाएंगे।
 
9:00 बजे : विक्टोरियन गवर्नर से मुलाकात के बाद पीएम मोदी गवर्नमेंट हाउस में आस्ट्रेलिया के CEOs से मुलाकात करेंगे।

8:50 बजे : पीएम मोदी करीब 10:50 बजे विक्टोरियन गवर्नर एलेक्स चेर्नोव से मुलाकात करेंगे।

सुबह 8:25 बजे : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी ऑस्ट्रेलिया यात्रा के अंतिम चरण में मेलबर्न पहुंच गए हैं। आस्ट्रेलियाई पीएम टोनी एबोट आज शाम 161 साल पुराने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) में मोदी के स्वागत के लिए एक समारोह की मेजबानी करेंगे।

मोदी ने ऑस्ट्रेलियाई संसद को किया संबोधित, बने पहले नेता

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आतंकवाद को सारे विश्व के लिए सबसे बड़ा खतरा बताते हुए मंगलवार को कहा कि इस वैश्विक समस्या से निपटने के लिए व्यापक वैश्विक रणनीति बनाकर उन देशों को अलग-थलग करना होगा जो इसे बढ़ावा दे रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने यहां आस्ट्रेलियाई संसद को संबोधित करते हुए कहा, ‘आतंकवाद हम सब के लिए सबसे बड़ा खतरा बन गया है। भारत पिछले तीन दशक से इसका सामना कर रहा है। इसका चरित्र बदल रहा है और यह अपनी पहुंच का भी विस्तार कर रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘इस वैश्विक समस्या से निपटने के लिए हमें व्यापक वैश्विक रणनीति बनानी चाहिए और देशों के बीच अंतर किये बिना उन्हें अलग-थलग करें जो इसे बढ़ावा दे रहे हैं।’

मोदी ने सुझाव दिया कि जहां यह आतंकवाद सबसे अधिक है, वहां हमें इसके खिलाफ सामाजिक आंदोलन चलाना होगा। आतंकवाद के खिलाफ व्यापक रणनीति बनाने की अपील के साथ उन्होंने आगाह किया, ‘धर्म और आतंकवाद को जोड़ने के सभी प्रयासों को विफल किया जाए।’ उन्होंने कहा कि आतंकवाद आज दुनिया में इंटरनेट के जरिये भर्ती (आतंकियों की), धन शोधन, मादक पदार्थों एवं हथियारों की तस्करी के जरिये अपने पैर तेजी से पसार रहा है जिसे रोके जाने के लिए वैश्विक स्तर पर सहयोग किये जाने की सख्त जरूरत है।

मोदी ने रानी लक्ष्मीबाई की ओर से लिखी याचिका एबट को भेंट की

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज अपने आस्ट्रेलियाई समकक्ष टोनी एबट को रानी लक्ष्मीबाई की ओर से ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ 1854 में लिखी आस्ट्रेलियाई वकील जान लांग की याचिका भेंट की। प्रधानमंत्री इसे द्विपक्षीय वार्ता से ठीक पहले एबट को भेंट किया।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैय्यद अकबरूद्दीन ने ट्वीट किया, प्रधानमंत्री ने आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री को आस्ट्रेलियाई जान लांग द्वारा झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की ओर से ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ लिखी याचिका भेंट की। मोदी की ओर से एबट को दिए इस उपहार का ब्यौरा देते हुए अकबरूद्दीन ने कहा, ‘जान लांग ने ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ झांसी की रानी की ओर से 1854 में लिखी अर्जी की मूल प्रति भेंट की।’ इससे पहले आस्ट्रेलियाई संसद के परिसर में मोदी ने सलामी गारद का निरीक्षण किया। उनके सम्मान में 19 तोपों की सलामी भी दी गई। इस मौके पर आस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एबट और कई भारतीय मौजूद थे। इसके बाद वे प्रधानमंत्री कार्यालय में द्विपक्षीय वार्ता के लिए बढ़ गए।