कई राज्यों में मंडरा रहा चक्रवाती तूफान जवाद का खतरा, IMD ने जारी किया अलर्ट; जानें कहां-कहां होगा असर
X

कई राज्यों में मंडरा रहा चक्रवाती तूफान जवाद का खतरा, IMD ने जारी किया अलर्ट; जानें कहां-कहां होगा असर

ओडिशा के तट से टकराने के बाद चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में भी तबाही मचा सकता है. इससे निपटने के लिए ओडिशा में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) और कोस्ट गार्ड की टीम तैनात कर दी गई है.

कई राज्यों में मंडरा रहा चक्रवाती तूफान जवाद का खतरा, IMD ने जारी किया अलर्ट; जानें कहां-कहां होगा असर

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच देश के कई राज्यों में चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) का खतरा मंडरा रहा है. गुजरात में कहर बरपाने के बाद चक्रवाती तूफान पश्चिम बंगाल, ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों की तरफ बढ़ रहा है. चक्रवाती तूफान के 4 दिसंबर यानी कल ओडिशा तट से टकराने की आशंका है. इसको लेकर पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और ओडिशा में भारी बारिश की आशंका जताई गई है. तूफान के खतरे को देखते हुए निचले इलाकों में रह रहे लोगों को हटाया जा रहा है.

आपदा से निपटने के लिए NDRF तैयार

चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) से निपटने के लिए ओडिशा में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) और कोस्ट गार्ड की टीम तैनात कर दी गई है. ओडिशा के तट से टकराने के बाद जवाद चक्रवाती तूफान पश्चिम बंगाल में भी तबाही मचा सकता है. चक्रवात को लेकर बंगाल सरकार सतर्क है और कोलकाता समेत 7 जिलों में एनडीआरएफ की कई टीमें तैनात की गई हैं. तूफान को लेकर आंध्र प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है. इससे पहले गुजरात के कई हिस्सों में तूफान जवाद की वजह से भारी बारिश हुई और इसकी वजह से कई नाव डूब गए. इसके बाद से ही 10 से ज्यादा मछुआरे गायब बताए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- ये हैं Omicron Variant के 3 सबसे बड़े लक्षण, कोरोना के अन्य स्ट्रेन से बिल्कुल अलग

 

एनडीआरएफ की 29 टीमें तैनात

केंद्रीय गृह मंत्रालय (MHA) चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) की स्थिति पर 24 घंटे नजर रख रहा है और सभी तटीय राज्यों में एनडीआरएफ की कुल 29 टीमों को तैनात कर दिया है, जबकि 33 टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है. तूफान के बाद की स्थिति से निपटने के लिए भारतीय तटरक्षक बल और नौसेना ने जहाज व हेलीकॉप्टर भी तैनात किए हैं. इसके अलावा जरूरत पड़ने पर थल सेना और वायु सेना की भी मदद ली जाएगी.

100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है हवा

मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) के तट से टकराने के बाद हवा की गति 100 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है. जवाद के खतरे को देखते हुए ओडिशा के चार जिले- गजपति, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है, जबकि और बाकी के सात जिलों- केंद्रपाड़ा, कटक, खुर्दा, नयागढ़, कंधमाल, रायगड़ा, कोरापुट जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.

तूफान से निपटने की तैयारियों की पीएम मोदी ने की समीक्षा

चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) करीब से नजर रखे हुए हैं और इससे निपटने की राज्यों, केंद्र सरकार के मंत्रालयों और संबंधित एजेंसियों की तैयारियों की गुरुवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में समीक्षा की. इसके साथ ही पीएम मोदी ने अधिकारियों को जान और माल की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. पीएम मोदी ने लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाने के लिए हरसंभव कदम उठाने, बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य और पेय जल जैसी आवश्यक सेवाओं का रखरखाव सुनिश्चित करने और इनमें किसी प्रकार की बाधा उत्पन्न होने पर उन्हें तत्काल बहाल करने का निर्देश दिया.

तूफान की वजह से भारतीय रेलवे ने रद्द की 95 ट्रेनें

चक्रवाती तूफान 'जवाद' (Cyclone Jawad) के खतरे को देखते हुए ईस्ट कोस्ट रेलवे (East Coast Railway) ने यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए 3 और 4 दिसंबर को 95 ट्रेनों को रद्द (95 Trains Cancelled) करने का निर्देश दिया है. रद्द ट्रेनों की लिस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें...

बंगाल के इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश

मौसम विभाग (IMD) ने कहा कि दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी में बन रहे निम्न वायु दबाव के गहरे दबाव में तब्दील होने और इसके बाद चक्रवाती तूफान का रूप धारण करने की संभावना है. इसके शनिवार को पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी, उत्तरी आंध्र प्रदेश तट-दक्षिण ओडिशा तट शनिवार सुबह पहुंचने की संभावना है. मौसम विभाग ने कहा कि इसके प्रभाव से शनिवार को पूर्वी मिदनापुर में एक या दो जगहों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने, जबकि पश्चिमी मिदनापुर, झारग्राम और हावड़ा में भारी बारिश होने की संभावना है.

VIDEO-

Trending news