सांसद बनने की चाह में बना ड्रग तस्कर, मिले पैसों से गांव में लोगों की करता था मदद

पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि वह इस साल होने वाले चुनाव में लड़ने का मन बना रहा था.  

सांसद बनने की चाह में बना ड्रग तस्कर, मिले पैसों से गांव में लोगों की करता था मदद

नई दिल्ली: दिल्ली के द्वारका डिस्टिक की नारकोटिक्स ने ड्रग्स की तस्करी कर संसद तक पहुंचने का सपना देख रहे एक तस्कर को गिरफ्तार किया है. आरोपी तस्करी से होने वाले आमदनी से बिहार के किशनगंज में जरूरतमंदों की मदद करता था. पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि वह इस साल होने वाले चुनाव को लडऩे का मन बना रहा था. उसके पास से पुलिस ने 6 किलो गांजा बरामद किया है.द्वारका डीसीपी उपायुक्त एंटो अल्फोंस ने बताया कि आरोपी की पहचान मूलत: किशनगंज बिहार निवासी परवेज आलम(35 ) के रूप में हुई है.

वह दिल्ली के तिलक नगर इलाके में रहता था. 14 फरवरी को जिले की नारकोटिक्स दस्ता नजफगढ ड्रेन रोड विपिन गार्डन के पास गश्त कर रहा था. रात करीब साढ़े नौ बजे पुलिस को देखकर एक शख्स नजरे चुराकर तेज कदमों से जाने लगा. उसके पास एक प्लास्टिक का कट्टा था. शक होने पर पुलिस ने उसे रोका और कट्टे में रखे सामान की जांच की.

कट्टा में छह किलो गांजा मिला. पकड़े गये शख्स की पहचान मोहम्मद परवेज आलम के रूप में हुई. जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.  पूछताछ में आरोपी ने बताया कि कुछ साल से वह दिल्ली में रह रहा था. वह बिहार से गांजा लाकर दिल्ली में सप्लाई करता था. पुलिस उससे पूछताछ कर धंधे से जुड़े अन्य लोगों की पहचान कर ली है. 

जांच में पता चला कि आरोपी राजनीति में आना चाहता था.  वह गांजा तस्करी से मिलने वाले रकम को अपने इलाके में रहने वाले जरूरतमंद को देकर उनकी मदद करता था. उसका इलाके के लोगों में अच्छी साख थी. जिसके बल पर वह चुनाव लडऩा चाहता था.