नाबालिग से रेप मामला: दिल्ली महिला आयोग ने DCP को भेजा नोटिस, 2 दिन में मांगा जवाब

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इस बात पर कड़ी नाराजगी जताई कि घटना के दो दिन बीतने के बावजूद पुलिस ने अब तक आरोपियों को गिरफ्तार क्यों नहीं किया है. मालीवाल ने कहा कि इस मामले में दिल्ली पुलिस के डीसीपी को नोटिस भेजकर दो दिन में जवाब मांगा गया है. 

नाबालिग से रेप मामला: दिल्ली महिला आयोग ने DCP को भेजा नोटिस, 2 दिन में मांगा जवाब
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) के पश्चिम विहार (Pashchim Vihar) इलाके में लावारिस हालत में मिली 12 वर्षीय बच्ची की हालत नाजुक बनी हुई है. बच्ची के पूरे शरीर में गहरे घाव हैं और प्राइवेट पार्ट्स से लगातार खून बह रहा है. किशोरी का फिलहाल दिल्ली एम्स (AIIMS) में इलाज चल रहा है. दिल्ली महिला आयोग ने मामले का संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है.

जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने बुधवार शाम 12 साल की एक बच्ची को खून से लथपथ हालत में संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया था. बच्ची का पूरा शरीर खून से लथपथ था. उसके सिर के पिछले हिस्से में किसी धारदार हथियार से वार किया गया था. बच्ची के निजी अंगों से लगातार खून बह रहा था. डॉक्टरों ने प्रारंभिक इलाज के बाद बच्ची को दिल्ली एम्म में रेफर कर दिया. जहां पर इमरजेंसी वार्ड में उसका इलाज चल रहा है.

ये भी पढ़ें- नाबालिग रेप पीड़िता से मिलने AIIMS पहुंचे केजरीवाल, किया 10 लाख के मुआवजे का ऐलान

पुलिस के मुताबिक बच्ची को अकेली देखकर उसके साथ घटना को अंजाम दिया गया. फिलहाल वह होश में नहीं है. इसलिए उसका बयान नहीं लिया जा सका है. परिवार वालों की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और जान से मारने की कोशिश का मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस अब तक आरोपियों का पता नहीं लगा पाई है. 

मामला संज्ञान में आने पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने एम्स जाकर बच्ची को देखा और उसके परिवार वालों से मुलाकात की. स्वाति ने बच्ची की हालत और मेडिकल रिपोर्ट देखने के बाद कहा कि ऐसा लगता है कि बच्ची के साथ सेक्सुअल एसाल्ट हुआ है. उन्होंने इस बात पर कड़ी नाराजगी जताई कि घटना के दो दिन बीतने के बावजूद पुलिस ने अब तक आरोपियों को गिरफ्तार क्यों नहीं किया है. मालीवाल ने कहा कि इस मामले में दिल्ली पुलिस के डीसीपी को नोटिस भेजकर दो दिन में जवाब मांगा गया है.