close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्लीः घर की घंटी बजाकर पहले बाहर बुलाया, फिर ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर कर दी हत्या

अमित अपनी पत्नी के साथ विकासपुरी में रहता था. मौके से मिली जानकारी के अनुसार यह वारदात गुरुवार रात करीब 10:45 बजे के आसपास की है. जीजी टू ब्लॉक में रहने वाला अमित कोचर पहले कॉल सेंटर में काम करता था. आजकल वह प्रॉपर्टी डीलिंग का काम रहा था.

दिल्लीः घर की घंटी बजाकर पहले बाहर बुलाया, फिर ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर कर दी हत्या
अमित ने कुछ ही दिनों पहले शुरू किया था प्रॉपर्टी डीलिंग का काम

नई दिल्लीः दिल्ली के विकासपुरी थाना इलाके में बीती रात एक प्रॉपर्टी डीलर की गोली मारकर हत्या कर दी गई. जिसके बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. मृतक की पहचान अमित कोचर के रूप में हुई है, जिसकी उम्र 35 साल के आसपास थी. अमित अपनी पत्नी के साथ विकासपुरी में रहता था. मौके से मिली जानकारी के अनुसार यह वारदात गुरुवार रात करीब 10:45 बजे के आसपास की है. जीजी टू ब्लॉक में रहने वाला अमित कोचर पहले कॉल सेंटर में काम करता था. आजकल वह प्रॉपर्टी डीलिंग का काम रहा था. रात में सफेद रंग की गाड़ी में आए और अमित की घर की घंटी बजा कर उसको बहार बुलाया और फिर अमित को गोली मारी दी. बदमाशों ने तीन गोली चलाई. पुलिस को मौके से दो खाली खोखे मिले हैं. 

डीसीपी वेस्ट मोनिका भारद्वाज ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि अभी तक की छानबीन में और पूछताछ में पता चला कि तीन लड़के देखे गए थे और जिन लड़कों ने इन्हें गोली मारी है उनके बीच में 10 मिनट तक बातचीत भी हुई थी. उसके बाद गोली मारकर मौके से फरार हो गए. हत्या के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल पाया है, लेकिन ऐसी आशंका जताई जा रही है कि हो सकता है प्रॉपर्टी या फिर पैसे के लेनदेन को लेकर इस वारदात को अंजाम दिया गया होगा. पुलिस इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है. मृतक की शव को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भेजा गया है आज वहां पोस्टमार्टम किया जा रहा है.

Delhi: Property dealer shot dead in his home in Vikaspuri

दिल्ली: शॉर्टकट से पैसे कमाने के कारण 3 दोस्त बने लुटेरे, पुलिस ने किया गिरफ्तार

वहीं अमित की मौत के बाद घर में मातम पसरा हुआ है. अमित के परिजनों की मानें तो अमित की किसी से कोई आपसी रंजिश नहीं थी. ऐसे में कौन उसकी जान का दुश्मन बन सकता है इसके बारे में किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा है. वहीं पूरे मामले में पुलिस का कहना है कि फिलहाल मामला दर्ज कर लिया गया है और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की खोजबीन शुरू कर दी है, लेकिन परिजनों ने किसी पर भी शक जाहिर नहीं किया है. जिससे मामला थोड़ा उलझा हुआ है. बता दें गोली लगने के बाद अमित की मौके पर ही मौत हो गई थी. परिजन जब अमित को अस्पताल लेकर पहुंचे, तब डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया था.