close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नोएडा: DTH फ्रीक्वेंसी को हैक कर करते प्रसारण की धोखाधड़ी, करोड़ों का था पूरा धंधा

कंपनी के द्वारा सेट टॉप बॉक्स में इंटरनेट के जरिए DTH सर्विस प्रोवाइडर कंपनी की फ्रीक्वेंसी बैंड को प्राप्त कर अवैध रूप से बिना समुचित प्राधिकार और भुगतान के कंपनी के चैनलों का प्रसारण किया जा रहा है था. इससे न सिर्फ प्राइवेट कंपनी को बल्कि भारत सरकार को भी आर्थिक नुकसान हो रहा है.

नोएडा: DTH फ्रीक्वेंसी को हैक कर करते प्रसारण की धोखाधड़ी, करोड़ों का था पूरा धंधा
डीटीएच फ्रीक्वेंसी को हैक करने वाले गिरोह का भंडाफोड़.

नोएडा: गौतमबुद्धनगर जिले के थाना फेस-3 पुलिस ने अलग-अलग कंपनियों के DTH फ्रीक्वेंसी को हैक करके अपने सेट टॉप बॉक्स से प्रसारण चालकर धोखाधड़ी करके करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. इस मामले में पुलिस ने एक व्यकि को गिरफ्तार किया है. उसके पास से भारी मात्रा में सेट टॉप बाक्स और कंप्यूटर उपकरण आदि बरामद किए हैं.

नोएडा के थाना फेस 3 की एक प्राइवेट सर्विस प्रदाता के प्राधिकृत अधिकारियों की ओर से लिखित तहरीर और मौखिक रूप से सूचना दी कि थाना क्षेत्र के एच120 सेक्टर 63 नोएडा गौतमबुद्धनगर में 4 मस्कमैन इलेक्ट्रॉनिक प्राइवेट लिमिटेड एच 120 सेक्टर 63 के नाम से एक कंपनी संचालित हो रही है.

ये भी पढ़ें: देश की सुरक्षा को ताक पर रखकर ये चाइनीज कंपनी लगा रही थी सरकार को करोड़ों का चूना...लाखों का माल बरामद

ये कंपनी सेट टॉप बॉक्स बनाने का कार्य करती है. कंपनी के द्वारा सेट टॉप बॉक्स में इंटरनेट के जरिए DTH सर्विस प्रोवाइडर कंपनी की फ्रीक्वेंसी बैंड को प्राप्त कर अवैध रूप से बिना समुचित प्राधिकार और भुगतान के कंपनी के चैनलों का प्रसारण किया जा रहा है था. इससे न सिर्फ प्राइवेट कंपनी को बल्कि भारत सरकार को भी आर्थिक नुकसान हो रहा है.

इसके अतिरिक्त उक्त सेट टॉप बॉक्स मे कई प्रतिबंधित चैनल का भी प्रसारण किया जा रहा है और पोर्न मूवी भी दिखाई देती जा रही थी. थाना फेस -3 नोएडा पुलिस द्वारा तत्काल आवश्यक कार्रवाई करते हुये उक्त कंपनी परिसर पर जाकर जांच की गई तो आरोप सही पाये गये. मौके से कंपनी के डायरेक्टर गजेन्द्र सिंह पुत्र अतर सिंह निवासी नजब गढ़ दिल्ली को गिरफ्तार किया गया है. वहीं इस कंपनी के दूसरे निदेशक फरार हैं, उनकी तलाश की जा रही है.

जांच के दौरान मौके पर अनाधिकृत रूप से प्रयोग किये जा रहे 20 सेट टॉप बॉक्स और कंपनी निर्मित 22 सेट टॉप बॉक्स और दो लेपटॉप, दो CPU, एक-एक CPU व DVR, एक सर्वर (WAN –LAN), 24 रिमोट, 23 अडाप्टर, 16 डिश टीवी केबल, 18 डोंगल और तीन मदरबोर्ड (सेट टॉप बॉक्स) बरामद किये हैं. कंपनी को सील कर दिया गया है. 

एसपी सिटी विनीत जायसवाल ने बताया कि इस मामले में पर मु.अ.सं. 947/19 धारा 420 भादवि व 66B IT ACT और 63,65,65A कॉपीराइट एक्ट पंजीकृत किया गया है. पुलिस को मिली जानकारी के मुताबिक अब तक कंपनी के लोग करोड़ों रुपये धोखाधड़ी कर चुके हैं.

ये हुए हैं गिरफ्तार-:
1.  डायरेक्टर गजेन्द्र सिंह पुत्र अतर सिंह निवासी नानकप्याऊ थाना नजबगढ़ दिल्ली.

ये हैं फरार-:
सीईओ फेनचुनजाऔ उर्फ जैरी

पुलिस ने इस मामले में आरोपी गजेंद्र सिंह को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया था, जंहा से उसे 14 दिन की न्याययिक हिरासत में भेज दिया गया है. बाकी मामले की जांच पुलिस कर रही है.