close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बेटे की हत्या कर पिता मकान मालिक से बोला, 'मैंने अपने बच्चे का मर्डर किया है, पुलिस को बुला दो'

पुलिस की पूछताछ में विनोद ने बताया कि उसकी पत्नी की मौत चार साल पहले कैंसर की वजह से हो गई थी.

बेटे की हत्या कर पिता मकान मालिक से बोला, 'मैंने अपने बच्चे का मर्डर किया है, पुलिस को बुला दो'
आरोपी ने कहा कि आर्थिक तंगी की वजह से वो अब अपने बेटे का खर्च नही उठा पा रहा था.

नई दिल्ली: दिल्ली के बुध विहार इलाके में एक पिता ने आर्थिक तंगी की वजह से अपने छह साल के बच्चे की गला दबाकर हत्या कर दी. इसके बाद हत्या की जानकारी सबसे पहले अपने मकान मालिक को दी. मकान मालिक को पहले तो विश्वास ही नहीं हुआ लेकिन बच्चे की लाश देखने के बाद उसने पुलिस को फोन किया. मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने बताया कि शनिवार की सुबह करीब 9 बजे विनोद नाम का शख्स अपने मकान मलिक के पास पहुंचा. विनोद ने मकान मलिक से कहा कि उसने अपने 6 साल के बेटे पुनीत की गला दबा के हत्या कर दी है और वो पुलिस को बुला दे. मकान मलिक को विश्वास नहीं हुआ लेकिन जब उसने बच्चे की लाश देखी तो चौंक गया. उसने तुरंत 100 नंबर पर कॉल करके पुलिस को जानकारी दी. पुलिस विनोद के साथ उसके फ्लैट में गई तो उसने देखा कि बच्चे की लाश बेड पर पड़ी हुई है. विनोद ने पुलिस को बताया कि उसने गला दबा के बेटे की हत्या की थी.

पुलिस की पूछताछ में विनोद ने बताया कि उसकी पत्नी की मौत चार साल पहले कैंसर की वजह से हो गई थी. पत्नी के इलाज मे उसकी जीवन भर की कमाई खत्म हो गई. उस वक़्त विनोद एक प्राइवेट कंपनी में मार्केटिंग की नौकरी करता था. पत्नी की मौत के बाद वो नौकरी उसने छोड़ दी और पटेल नगर मे काम करने लगा. इस बीच जिस जगह वो काम करता था उसे व्यापार में नुकसान हुआ और वो अपना काम समेट कर भाग गया. जिसकी वजह से विनोद को बेहद नुकसान हुआ और वो कर्ज में डूब गया.

विनोद ने पुलिस को बताया कि उसका बेटा सुबह स्कूल जाता था, फिर वहां से क्रेच जाता था. आर्थिक तंगी की वजह से वो अब अपने बेटे का खर्च नही उठा पा रहा था. इसके चलते उसने ये कदम उठाया. पुलिस ने विनोद के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है. राजधानी दिल्ली में हुई इस वारदात ने सबको झकझोर कर रख दिया है कि आखिर एक बाप को अपना खून कैसे बोझ लग सकता है.