close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा चुनाव: कांग्रेस प्रत्याशियों की सूची नहीं आई, टिकट के इंतजार करने वालों की सांस अटकी

हरियाणा की स्क्रीनिंग कमेटी के चार-चार बैठकें हुई, उसके बावजूद एक नाम पर सहमति बनाने में सभी को मुश्किलों का सामना करना पड़ा. 

हरियाणा चुनाव: कांग्रेस प्रत्याशियों की सूची नहीं आई, टिकट के इंतजार करने वालों की सांस अटकी
कांग्रेस पार्टी अभी भी इसी जद्दोजहद में जुटी हुई है कि आखिर कौन-कौन उनका उम्मीदवार हो सकता है.

चंडीगढ़: हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Elections 2019) में बीजेपी अपने उम्मीदवारों के नामांकन में व्यस्त है. नामांकन कराने के लिए तमाम बड़े नेता हरियाणा पहुंच रहे हैं. दूसरी तरफ, कांग्रेस पार्टी (Congress Party) अभी भी इसी जद्दोजहद में जुटी हुई है कि आखिर कौन-कौन उनका उम्मीदवार हो सकता है. कांग्रेस की सूची मंगलवार को भी सामने नहीं आई. जितनी आसानी से कांग्रेस पार्टी ने महाराष्ट्र के तमाम उम्मीदवारों का चयन कर लिया, उतनी ही परेशानी का सामना उसे हरियाणा में करना पड़ रहा है. हरियाणा में विधानसभा की 90 सीटें हैं.  

हरियाणा की स्क्रीनिंग कमेटी के चार-चार बैठकें हुई, उसके बावजूद एक नाम पर सहमति बनाने में सभी को मुश्किलों का सामना करना पड़ा. सभी बड़े नेता सोनिया गांधी के दरबार में 10 जनपथ में पहुंचे. इस उम्मीद से कि वहां सब कुछ तुरंत निर्णय ले लिया जाएगा और सब कुछ ठीक ठाक हो जाएगा लेकिन वहां भी तीन घंटे की लंबी मैराथन बैठक के बाद भी कोई निर्णय नहीं हो पाया. 

LIVE टीवी:

दिलचस्प बात ये है कि पहली बार कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निवास के सामने इतना बड़ा विरोध प्रदर्शन भी देखने को मिला. हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर के समर्थकों ने जमकर 10 जनपथ के बाहर हंगामा मचाया है. हद तो यह हुई कि भूपेन्द्र हुड्डा जब गांधी के निवास से बाहर निकल रहे थे, तब तंवर के समर्थकों ने ख़िलाफ़ जमकर नारेबाज़ी की. इतना ही नहीं बल्कि रात के 11 बजे तक अशोक तंवर के तमाम समर्थक दस जनपथ और चौबीस अक़बर रोड पर डेरा जमाए बैठे रहे. अंदर चली बैठकों की अगर बात करें तो सूत्रों के मुताबिक़ अंदर भी माहौल बेहतर नहीं रहा. इसलिए निर्णय लेने में देर होती जा रही है.