हिन्दू लड़के ने मुस्लिम लड़की से की थी लव मैरिज, घरवालों ने की हत्या

रूकसर मुस्लिम समुदाय से थी लिहाजा हिन्दू लड़के से शादी करने से घरवाले इस शादी के खिलाफ थे. लेकिन इस सब से बेफिक्र दोनों ने राजस्थान जाकर शादी रजिस्टर्ड करा ली और वही रहने लगे. इसके बाद लड़की के घरवालों ने इन्हें फरीदाबाद बुलाया और अलग किराए पर कमरा दिला दिया.

हिन्दू लड़के ने मुस्लिम लड़की से की थी लव मैरिज, घरवालों ने की हत्या
फाइल तस्वीर

फरीदाबाद: नेहरू कलौनी में संजय नाम के एक शख्स को गैर समुदाय में शादी करने की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी. दरअसल, संजय ने करीब एक साल पहले अपने पड़ोस में रहने वाली रूकसर से भाग कर शादी कर ली, चूंकि रूकसर मुस्लिम समुदाय से थी लिहाजा हिन्दू लड़के से शादी करने से घरवाले इस शादी के खिलाफ थे. लेकिन इस सब से बेफिक्र दोनों ने राजस्थान जाकर शादी रजिस्टर्ड करा ली और वही रहने लगे. इसके बाद लड़की के घरवालों ने इन्हें फरीदाबाद बुलाया और अलग किराए पर कमरा दिला दिया, इसी बीच रूकसर के घरवाले उनसे मिलने लगे. धीरे धीरे लग रहा था सब ठीक हो गया, इसी बीच संजय ने अपने घरवालों को बताया कि उसके ससुराल वाले उसे मुस्लिम बनने के लिए दबाव डालने लगे, लेकिन उसने मुस्लिम धर्म अपनाने के लिए मना कर दिया, इसके बाद लड़की ने तलाक की मांग की और करीब दो महीने पहले दोनों का तलाक हो गया.

मृतक संजय की मां मंजू ने बताया कि 'संजय शादी के बाद से ही राजस्थान में रह रहा था, लेकिन जनवरी में रूकसर के घरवालों ने उसे पास में ही कमरा दिलवा दिया. संजय बताता था कि रूकसर के घरवाले उसे धर्मपरिवर्तन कर मुसलमान बनने को बोलते थे, जिसका वो विरोध करता था. इसी वजह से दो महीने पहले रूकसर ने उसे तलाक देने को कहा था'.

दो महीने पहले रूकसर के तलाक मांगने के बाद संजय राजस्थान चला गया था. दोनों अलग रह रहे थे, लेकिन फोन पर बात करते रहते थे. 15 अगस्त से पहले रूकसर ने फोन करके संजय को फरीदाबाद ये कहकर बुलाया कि घरवाले मान गए है ईद पर वो उसे विदा कर देंगे. संजय 15 अगस्त को फरीदाबाद आया और लड़की के भाई सलीम ने उससे मुलाक़ात की, अगले दिन 16 अगस्त को सलीम संजय के घर आया और घूमने का बहाना करके उसे अपने साथ ले गया. 

शाम तक जब संजय घर नहीं आया तो संजय की माँ लड़की के घर पहुचीं जहांं सलीम घर था, लेकिन उन्होंने संजय के बारे में कुछ नहीं बताया जिसके बाद ये मां पुलिस के पास पहुचीं तो शुरुआत में पुलिस ने भी मदद नहीं की, लेकिन 19 अगस्त को एफआईआर दर्ज कर जब सलीम से पूछताछ की तो करीब 5 दिन बाद 21 अगस्त को संजय की बॉडी घर के पास ही मौजूद जंगल से सड़ी गली हालत में बरामद हुई. 

इस मामले में पुलिस ने रूकसर के भाई सलीम और उसके पिता समेत कुल चार लोगो को गिरफ्तार किया जिसके बाद उन्होंने अपना जुर्म कबूल लिया कि वो इस शादी के खिलाफ थे इसलिए उन्होंने संजय की हत्या कर दी. दरअसल, संजय और रूकसर एक साल पहले आस पड़ोस में रहते थे. दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे रूकसर के परिवार ने रूकसर का निकाह तय कर दिया था. लेकिन निकाह से दो दिन पहले ही रूकसर ओर संजय घर से भाग गए और राजस्थान जाकर शादी कर ली. 

फरीदाबाद पुलिस के पीआरओ सूबे सिंह ने ज़ी न्यूज़ को से बातचीत में बताया कि 'रूकसर के परिवार वाले संजय से इस लिए नाखुश थे क्योंकि वो रूकसर को उसके निकाह से दो दिन पहले ही भगा के ले गया था और शादी कर ली थी, इसी बात से नाराज़ होकर बाप-बेटे समेत चार लोगों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया था. जिन्हें पुलिस ने गिराफ्तार कर लिया है'. संजय की हत्या का खुलासा होने के बाद से ही रूकसर अपनी माँ और छोटे भाई के साथ फ़रार है. पुलिस को उम्मीद है कि रूकसर से पूछताछ के बाद पूरी तस्वीर साफ हो पाएगी.