close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तीस हजारी कांड: DCP मोनिका भारद्वाज के साथ हुई बदसलूकी की निंदा, स्वत: संज्ञान लेगा महिला आयोग

सीसीटीवी फुटेज में देखा गया कि तीस हजारी कोर्ट में उपद्रवी वकीलों ने महिला IPS अफसर से बदसलूकी की थी.

तीस हजारी कांड: DCP मोनिका भारद्वाज के साथ हुई बदसलूकी की निंदा, स्वत: संज्ञान लेगा महिला आयोग

नई दिल्ली: दिल्ली की तीस हजारी अदालत (Tis Hazari Court) में शनिवार को हुए बवाल के कई सनसनीखेज खुलासे सीसीटीवी वीडियोज के जरिए धीरे-धीरे सामने आ रहे हैं. ऐसे में उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त (DCP) मोनिका भारद्वाज (Monika Bhardwaj) के साथ हुई बदसलूकी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. इस मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि वह इसका स्वत: संज्ञान लेंगी.

एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा ने कहा, ‘मैं इसकी निंदा करती हूं. मैं स्वत: संज्ञान लेने जा रही हूं और इस बारे में बार काउंसिल एवं दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखूंगी.’

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि पुलिसकर्मियों और वकीलों की झड़प की सूचना पर डीसीपी मोनिका कुछ पुलिसकर्मियों के साथ कोर्ट परिसर पहुंचती हैं, लेकिन वहां हंगामा कर रहे वकीलों ने उनसे बात के बजाय उनसे बदसलूकी करना शुरू कर दी. यही नहीं, हंगामे के बीच वकीलों के झुंड ने महिला पुलिस अफसर पर हमला भी कर दिया.

वीडियो में साफ तौर पर रिकॉर्ड हुआ है कि डीसीपी मोनिका भारद्धाज को हमले से बचाते हुए दो लोग कोर्ट परिसर से बाहर की ओर दौड़ते हैं. उनके पीछे सैकड़ों की तादाद में उग्र वकील दौड़ रहे हैं. हमले और बदसलूकी का यह 1:50 मिनट का वीडियो कोर्ट के गेट पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गया.

क्या है मामला
उल्लेखनीय है कि शनिवार को तीस हजारी अदालत परिसर में पार्किंग को लेकर एक वकील और कुछ पुलिसकर्मियों के बीच मामूली बहस हो गई, जिससे बाद इसने हिंसा का रूप ले लिया. इस दौरान एक वकील को गोली भी लग गई थी.