परिवार से बिछड़ी दो मासूम बहनें, फरिश्ता बनकर आए RPF के अंकल ने परिवार से मिलवाया

बच्चों के मिल जाने पर परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. बच्चियों के माता-पिता ने आरपीएफ का धन्यवाद किया.

परिवार से बिछड़ी दो मासूम बहनें, फरिश्ता बनकर आए RPF के अंकल ने परिवार से मिलवाया

नई दिल्ली: रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (RPF) ने एक बार फिर बिछड़ों को परिवार से मिलवाना है. दरअसल, सोमवार को दो मासूम बहनें ट्रेन में यात्रा के दौरान अपने परिवार से बिछड़ गईं. RPF की स्पेशल टीम ने दोनों बच्चियों को ढूंढकर उनके मां-बाप को सौंप दिया. बच्चों के मिल जाने पर परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. बच्चियों के माता-पिता ने आरपीएफ का धन्यवाद किया.

RPF के सीनियर ऑफिसर ने ज़ी न्यूज़ को बताया कि एक परिवार आगरा से दिल्ली अपनी बच्ची का इलाज करवाने के लिए दिल्ली आ रहा था. अंत्योदय एक्सप्रेस में काफी भीड़ थी ऐसे में दोनों बच्चियां ट्रेन में चढ़ गईं जबकि उनके माता-पिता और उनकी बहन पीछे छूट गए.  

ट्रेन चलते ही परिवार वालों ने RPF को इसकी जानकारी दी. उसके बाद दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ के इंस्पेक्टर नितिन मेहरा ने ट्रेन के आते ही अपनी टीम के साथ बच्चों को ट्रेन में सर्च किया. फिर दोनों बच्चियों गोमती 6 साल और मालती 10 साल को बरामद कर लिया.

RPF ने डरी-सहमी बच्चियों की उनके माता-पिता से फोन पर बात करवाई. फिर कहीं जाकर दोनों बच्चे ठीक हो पाए. बच्चों के मिल जाने के बाद परिवार RPF की तारीफ करने लगा.

ये भी देखें