family

दूसरी शादी के लिए पति को छोड़ गई थी पत्नी... पहले पति ने बुलाया और पेड़ पर बांधकर की पिटाई

धार के नगर पुलिस अधीक्षक संजीव मुले ने बताया, ‘‘यह घटना मंगलवार को यहां अर्जुन कॉलोनी में हुई. इस मामले में हमने मुख्य आरोपी सहित पांच लोगों को मंगलवार को गिरफ्तार किया है और बचे हुए तीन-चार आरोपियों को पकड़ने के प्रयास जारी है.’’

मई 16, 2019, 03:19 PM IST

मां के साथ प्रेम के अटूट रिश्ते को सेलिब्रेट करने का दिन है Mother's Day

`मदर्स डे` के दिन दुनिया भर में लोग अपनी मां के प्रति प्रेम, विश्वास जताने के साथ उन्हें शुभकामनाएं देते हैं. 

मई 9, 2019, 02:48 PM IST

अशोक गहलोत और वैभव गहलोत ने परिवार समेत डाला वोट

जोधपुर- मरुधरा का महामुकाबला : चौथे चरण का मतदान जारी, राजस्थान की 13 सीटों पर वोटिंग आज. जोधपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस प्रत्याशी वैभव गहलोत ने परिवार समेत किया मतदान। आज 9 राज्‍यों की 72 सीटों पर वोटिंग हो रही है. आज कई दिग्‍गज नेताओं की किस्‍मत ईवीएम में कैद होगी.

Apr 29, 2019, 05:12 PM IST

डियर जिंदगी: यह दीवार कैसे टूटेगी!

हम मनुष्‍य के सामाजिक प्राणी होने के मूल गुण से पहली बार इतनी दूर निकलते दिखाई दे रहे हैं. हर चीज को बस वर्चुअल दुनिया के पैमाने से देखा जा रहा है.    

Feb 25, 2019, 09:11 AM IST

प्रेमिका से मिलने के लिए रात में घर पहुंचा प्रेमी, परिवार वालों ने पकड़ा और काट दी नाक

अहीर ने बताया, ‘‘जब वह रात में वहां पहुंचा, तो महिला के परिवार के सदस्यों ने उसे पकड़ लिया और उसके चाचा ने उसकी नाक काट दी. 

Feb 18, 2019, 05:58 PM IST

डियर जिंदगी: रेगिस्तान होने से बचना!

शहर में हमारे घर आंगन एक दूसरे से इतने अलग और बंटे हुए हैं कि कब वहां सुख और दुख 'हमारे' ना होकर 'मेरे और तुम्हारे' में बदल जाते हैं, हम नहीं समझ पाते.  

Jan 31, 2019, 08:30 AM IST

डियर जिंदगी: विश्‍वास के भरोसे का टूटना !

जिंदगी का हिसाब ‘टुकड़े-टुकड़े’ में नहीं रखा जाता. इसके मायने हमेशा संपूर्णता में ग्रहण किए जाने चाहिए.

Jan 22, 2019, 10:12 AM IST

डियर जिंदगी: ‘चुपके से’ कहां गया!

अपने प्रेम संबंध के लिए भी हमने सोशल मीडिया को सबसे बड़ा मंच बना दिया. मन जुड़ने से लेकर ‘तार-टूटने’ तक की सूचना अब अभिभावक को भी यहीं मिलती है!

Dec 27, 2018, 09:36 AM IST

डियर जिंदगी : जो तुम्‍हें अपने करीब ले जाए...

हम भूल रहे हैं कि मिट्टी का घड़ा, फ्रि‍ज नहीं. फ्रि‍ज का पानी लाख ठंडा हो, लेकिन उसमें मिट्टी का स्‍वाद नहीं. हमें अपनी मिट्टी के स्‍वाद को खजाने की तरह सहेजना है. इसमें ही जीवन की सुगंध है.

Dec 25, 2018, 07:39 AM IST

डियर जिंदगी: अभिभावक का समय!

अगर आपने माता-पिता को अपने केंद्र से बाहर कर दिया तो यकीन मानिए आप अपने बच्‍चों के केंद्र में कभी नहीं रह पाएंगे.

Dec 20, 2018, 09:22 AM IST

50 साल बाद परिवार में हुआ बेटी का जन्म, तो ऐसे मनाई गई खुशी

झुंझुनूः दित्वी आपके लिए यह नाम नया होगा, लेकिन हिंदी भाषा के सरल शब्दों में इसे देवी भी कहा जाता है. झुंझुनू स्थित एक परिवार में जब 50 साल बाद बेटी जन्मी तो परिवार वालों ने उसे ना केवल देवी का रूप माना, बल्कि उसका नाम भी दित्वी रख दिया. जो देवी का ही दूसरा नाम है. साथ ही प्रसूता के साथ-साथ पूरे परिवार में खुशी छाई हुई है. बेटी के जन्म पर गाना बजा कर कार्यक्रम किया जा रहा है. हालांकि समाज में ऐसा चलन केवल बेटों के जन्म पर ही होता है.

Nov 9, 2018, 08:06 PM IST

डियर जिंदगी: कब से ‘उनसे’ मिले नहीं…

जब हम जिंदगी को ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई करने वाली सारी खिड़कियां बंद कर देते हैं, तो उससे स्‍वाभाविक रूप से बेचैनी होती है. जो धीरे-धीरे रूखेपन में बदल जाती है.

Oct 25, 2018, 10:52 AM IST

डियर जिंदगी: माता-पिता का 'सुख' चुनते हुए...

हम कैसे मान लेते हैं कि माता-पिता का पूरा जीवन केवल बच्चों के समीप ही बुना होना चाहिए. माता पिता का अपना कोई सुख, अपनी कोई दुनिया हमारी समझ से भी कोसों दूर लगती है.

Oct 22, 2018, 09:40 AM IST

डियर जिंदगी: ...जो कुछ न दे सके

 समय का छोटा सा टुकड़ा उनके लिए भी निकालना चाहिए, जिन्होंने 'धूप' के वक्त बिना शर्त हमें अपनी छांव देने के साथ ही, हमारे होने में अहम भूमिका का निर्वाह किया.

Oct 18, 2018, 09:17 AM IST

डियर जिंदगी : ‘आईना, मुझसे मेरी पहली सी सूरत मांगे...’

हम दो कदम आगे बढ़ते हैं, तो पीछे के उजालों को भूलने लगते हैं. यह पीछे छूटते उजाले धीरे-धीरे हमारी सूरत बदलने लगते हैं. एक दिन होता यह है कि आईना, हमारी हमारी शक्‍ल भूलने लगता है. पहली सी सूरत मांगने लगता है!

Oct 16, 2018, 10:01 AM IST

डियर जिंदगी: अपेक्षा का कैक्टस और स्नेह का जंगल

बच्चों को होशियार, चतुर, 'चांद' पर जाने लायक बनाने की कोशिश में हम स्नेह की चूक कर रहे हैं, जो एक हरे-भरे, लहलहाते जीवन को सुखद आत्मीयता की जगह कहीं अधिक कैक्टस और कंटीली झाड़ियों से भर रही है.

Oct 15, 2018, 09:11 AM IST

डियर जिंदगी : मेरा होना सबका होना है!

दुविधा और मन की दुर्बलता से जैसे ही आशंका के गुब्‍बारे मिलते हैं, वह मन में ऐसी गरम हवा का निर्माण करते हैं, जिसमें भीतर की कोमलता, उदारता और स्‍नेह कुछ ही मिनट में छू मंतर हो जाते हैं.

Oct 9, 2018, 08:59 AM IST

डियर जिंदगी : जीवन के गाल पर डिठौना!

सुख के बीच दुख, असुविधा की आहट, अभ्‍यास भी बेहद जरूरी है. इसके बिना सुख की अनुभूति अधूरी है.

Oct 8, 2018, 09:36 AM IST

डियर जिंदगी : खुद को कितना जानते हैं!

हमें दुनिया को जानने के मिशन, दावों पर निकलने से पहले अपने बारे में निश्‍चित होने की जरूरत है. हमारे सुख, प्रसन्‍नता, ‘जीवन -आनंद’ के सारे रास्‍ते यहीं से होकर जाते हैं.  

Oct 2, 2018, 07:47 AM IST

डियर जिंदगी : ‘पहले हम पापा के साथ रहते थे, अब पापा हमारे साथ रहते हैं…’

वह सभी रिश्‍ते जिनसे हमारा ‘कुटुंब’ बनता है, माता-पिता जितने ही मूल्‍यवान हैं. बच्‍चों की शिक्षा जरूरी है, लेकिन अगर उस शिक्षा में मूल्‍य नहीं हैं, मनुष्‍य की कद्र, रिश्‍तों की ऊष्‍मा नहीं है, तो बच्‍चा ‘मशीन‘ बनेगा, मनुष्‍य नहीं! मशीन प्रेम नहीं करती, बस वह प्रेम का भरम बनाए रखने वाली चीजें बनाती है.

Oct 1, 2018, 08:50 AM IST