DNA ANALYSIS: कोरोना काल में PM मोदी ने बताए सेहतमंद रहने के तरीके

भारत में पिछले वर्ष फिट इंडिया मूवमेंट (Fit India Movement) की शुरुआत की गई थी. इस अभियान की पहली वर्षगांठ के मौके पर 24 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 7 अलग-अलग क्षेत्रों के ऐसे लोगों से बात की जो फिटनेस के प्रेरणा स्त्रोत माने जाते हैं. 

DNA ANALYSIS: कोरोना काल में PM मोदी ने बताए सेहतमंद रहने के तरीके

नई दिल्ली: भारत में पिछले वर्ष फिट इंडिया मूवमेंट (Fit India Movement) की शुरुआत की गई थी. इस अभियान की पहली वर्षगांठ के मौके पर 24 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 7 अलग-अलग क्षेत्रों के ऐसे लोगों से बात की जो फिटनेस के प्रेरणा स्त्रोत माने जाते हैं.

एक घंटे 15 मिनट की इस बातचीत में किसी ने भी फिट रहने के लिए जिम जाने, कैलोरीज घटाने और हेल्थ सप्लीमेंट या फूड खाने की बातें नहीं की, बल्कि फिट रहने के लिए जीवन शैली ठीक करने पर जोर दिया. 55 वर्ष के मिलिंद सोमन ने बताया कि वो कभी जिम नहीं जाते.

फिट रहने की प्रेरणा
पीएम मोदी ने मिलिंद सोमन को बताया कि वो उनकी मां के एक्सरसाइज वाले वीडियो कई बार देख चुके हैं, जिससे उन्हें फिट रहने की प्रेरणा मिलती है. मिलिंद सोमन की मां उषा सोमन 81 वर्ष की हैं. ये वीडियो उन्होंने इसी वर्ष अपने जन्मदिन पर 3 जुलाई को बनाया था.

यो यो टेस्ट क्या होता है?
पीएम मोदी ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली से उनकी फिजिकल फिटनेस के साथ साथ मेंटल फिटनेस के बारे में सवाल किए. लेकिन सबसे ज्यादा दिलचस्पी पीएम मोदी ने ये जानने में दिखाई कि यो यो टेस्ट क्या होता है. भारतीय क्रिकेट टीम में सेलेक्शन के लिए 2018 में Yo Yo test को अनिवार्य कर दिया गया था.

यो यो टेस्ट को बीप टेस्ट या पेसर टेस्ट भी कहते हैं. ये टेस्ट खिलाड़ियों की फिटनेस और स्टैमिना चेक करने के लिए किया जाता है. इस टेस्ट में 5 मीटर और 20 मीटर की दूरी पर कोन रखे होते हैं. जिसमें खिलाड़ियों को दौड़ना होता है. इस टेस्ट को पार करने के लिए भारतीय खिलाड़ियों को 16.1 का स्कोर पार करना होता है. सभी देशों में ये सबसे कम मानक है. आस्ट्रेलिया में इस टेस्ट को पास करने के लिए 20.1 का स्कोर पार करना होता है. जो सबसे ज्यादा है. विराट कोहली और रविन्द्र जडेजा का स्कोर इस टेस्ट में 21 है.

यो यो टेस्ट को डेनमार्क के फुटबॉल फिजियोलॉजिस्ट (Physiologist) जेन्स बैंग्सबो (Jens Bangsbo) ने बनाया था. फुटबॉल और हॉकी के बाद इसे क्रिकेट में सेलेक्शन के लिए जरूरी कर दिया गया. भारत में ये टेस्ट नेशनल टेस्ट एकेडमी बेंगलुरु में किया जाता है.

ड्रमस्टिक्स के पराठे
70 वर्ष के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आपने योग करते तो देखा होगा. लगातार काम करते भी देखा होगा लेकिन कल 24 सितंबर को उन्होंने देश से अपनी हेल्थ रेसिपी भी शेयर की. जब न्यूट्रीशनिस्ट ऋजुता दिवेकर ने कहा कि घर का ताजा खाना और घी सेहतमंद बना सकता है तो पीएम ने बताया कि सेहतमंद खाने की प्रेरणा उन्हें उनकी मां से मिलती है. 

PM Modi

पीएम मोदी ने बताया कि न्यूट्रिशन के लिए वो ड्रमस्टिक्स के पराठे खाते थे और अभी भी हफ्ते में एक या दो बार वो खाने में इसे शामिल करते हैं. 

ड्रमस्टिक्स (DrumSticks) की बात करें तो इसे पूर्वी उत्तर प्रदेश में सहजन और गुजरात में मोरिंगा कहा जाता है. पीएम मोदी ने कहा कि वो जल्द ही इसकी रेसिपी भी देश को बताएंगे. सहजन यानी ड्रमस्टिक्स में इम्युनिटी बढ़ाने वाले गुण होते हैं.

कुल मिलाकर इन सारी बातों का सार ये है कि आपको बैक टू बेसिक्स (Back to Basics) पर लौटने की जरूरत है.

फिट रहने के किफायती तरीके
जिम में पसीना बहाने की जगह अगर लोग अपने काम खुद करने लगें, लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल करना, पैदल चलना, अपने कपड़े खुद धोना, अपने घर की साफ सफाई स्वयं करना, अपना खाना खुद बनाना तो न अलग से वक्त निकालना पड़ेगा और न ही फिटनेस के नाम पर जिम जाने या महंगे जूते खरीदने की जरूरत पड़ेगी. फिट रहने के ये तरीके किफायती भी हैं. ये तरीके आपको सीमित संसाधनों में जीना यानी Minimalism भी सिखा सकते हैं.