close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शहीद स्क्वाड्रन लीडर की पत्नी गरिमा अबरोल जॉइन करेंगी IAF, पास किया इंटरव्यू

गरिमा अबरोल ने स्क्वाड्रन लीडर समीर अबरोल के शहीद होने के बाद फैसला किया था कि वह भी अपने पति की तरह ही भारतीय वायुसेना में शामिल होंगी.

शहीद स्क्वाड्रन लीडर की पत्नी गरिमा अबरोल जॉइन करेंगी IAF, पास किया इंटरव्यू
माना जा रहा है कि वह अगले साल 2020 में एयर फोर्स एकेडमी जॉइन करेंगी.

नई दिल्ली: 1 फरवरी 2019 को बेंगलुरु में मिराज-2000 के क्रैश में शहीद हुए स्क्वाड्रन लीडर समीर अबरोल की पत्नी गरिमा अबरोल अब जल्द ही वायु सेना (IAF) में शामिल होंगी. दरअसल, गरिमा अबरोल ने वाराणसी में हुए एसएसबी का इंटरव्यू को पास कर लिया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, गरिमा को तेलंगाना के डुंडीगल में भारतीय वायुसेना की एयर फोर्स एकेडमी में शामिल हो सकती है. 

गरिमा अबरोल ने स्क्वाड्रन लीडर समीर अबरोल के शहीद होने के बाद फैसला किया था कि वह भी अपने पति की तरह ही भारतीय वायुसेना में शामिल होंगी. वहीं, गरिमा ने यह इंटरव्यू पास करके अपने पति की विरासत को आगे बढ़ाया है. माना जा रहा है कि वह अगले साल 2020 में एयर फोर्स एकेडमी जॉइन करेंगी. 

बता दें कि गरिमा अबरोल उस समय चर्चा में आई थीं, जब उन्होंने अपने पति दिवंगत स्क्वाड्रन लीडर समीर अबरोल के लिए सोशल मीडिया पर एक भावुक कर देने वाली कविता शेयर की थी. गरिमा ने अपने पति को याद करते हुए अंग्रेजी की कविता लिखा था कि वे आसमान से जमीन पर गिरे. हड्डियां टूट गईं, एक ब्लैक बॉक्स जरूर मिला. वे सुरक्षित बाहर निकले थे पर पैराशूट में आग लग गई. इसके साथ ही परिवार के सारे सपने चूर-चूर हो गए. उन्होंने कभी इतनी गहरी सांस नहीं ली जितनी आखिरी बार ली. 

एक बार फिर एक शहीद का मारा गया है- गरिमा अबरोल
गरिमा ने इंस्ट्राग्राम पर लिखी गई अपनी पोस्ट पर में सेना में इस्तेमाल किये जा रहे हथियारों और नौकरशाही के रवैये पर सवाल भी उठाया था. गरिमा ने अपनी पोस्ट में लिखा था कि 'हम अपने योद्धाओं को बेकार हो चुके हथियार लड़ने के लिए दे रहे हैं और वे अपनी दिलेरी और बहादुरी से इनके सहारे भी बेहतर परिणाम देते रहे हैं.' उन्होंने लिखा था कि 'एक बार फिर एक शहीद का मारा गया है. वह आसमान से धरती पर गिर पड़ा है. टेस्ट पायलट की ये नौकरी बड़ी निर्मम है. दूसरों को बचाने के लिए किसी और को जोखिम उठाना पड़ता है.'