जम्मू-कश्मीर: लश्कर के मॉड्यूल का भंडाफोड़, एसपीओ सहित 7 गिरफ्तार

जम्मू एवं कश्मीर में शनिवार को सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने डोडा में लश्कर-ए-तैयबा के एक मॉड्यूल को बेनकाब करते हुए पांच आतंकवादियों को गिरफ्तार किया. पुलिस ने आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किए हैं. 

जम्मू-कश्मीर: लश्कर के मॉड्यूल का भंडाफोड़, एसपीओ सहित 7 गिरफ्तार
डोडा में आतंकियों के पास से हथियार भी बरामद.

जम्मू: जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आतंकवादी संगठन लश्कर ए तैयबा (एलईटी) के एक मॉड्यूल का भंडोफोड़ करने का शनिवार को दावा किया जो चिनाब घाटी में उग्रवाद को पुनर्जीवित करने के प्रयास में है. पुलिस ने एक एसपीओ और टेरीटोरियल आर्मी के एक पूर्व कर्मी सहित सात लोगों को गिरफ्तार किया है. मॉड्यूल जम्मू-कश्मीर के डोडा-किश्तवाड़-रामबन क्षेत्र में उग्रवाद को पुनर्जीवित करने के लिए काम कर रहा था.

जम्मू जोन के पुलिस महानिरीक्षक एस डी एस जामवाल ने यहां संवाददाताओं से कहा कि डोडा में आठ मई को एक पुलिस चौकी पर हमले के बाद गठित विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने ये गिरफ्तारियां कीं. आठ मई को हुए हमले में एक एसपीओ मारा गया और दूसरा जख्मी हो गया था.

आईजी ने ब्यौरा देते हुए कहा कि खुफिया जानकारी के आधार पर एसआईटी ने कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया और इसके बाद तांता के रहने वाले अब्दुल राशिद हारगा उर्फ अब्दुल्ला को गिरफ्तार किया गया.
राशिद 2001 से 2008 के बीच लश्कर का सक्रिय सदस्य था और बाद में उसने आत्मसपर्मण कर दिया. उसे फिर 2013 में गिरफ्तार किया गया और 2016 में जेल से रिहा कर दिया गया.

आईजी ने कहा, ‘लगातार पूछताछ में राशिद ने डोडा गोलीबारी घटना में संलिप्तता स्वीकार की और अपने दो सहयोगियों छोटे भाई शौकत अली तथा तांता के अख्तर मागरी के नामों का खुलासा किया.’ उनसे पूछताछ के बाद चार और व्यक्तियों -- टेरीटोरियल आर्मी के पूर्व सदस्य बशीर अहमद, उसके भतीजे और एसपीओ अल्ताफ अहमद, शफाकत हुसैन और हाफिज को गिरफ्तार किया गया. आईजी ने कहा कि उनके पास से एक ए के - 47 राइफल और तीन मैगजीन तथा गोलियां बरामद की गईं.

पाक ने किया संघर्षविराम का उल्लंघन, 2 लोगों की मौत

वहीं, राजौरी जिले में पाकिस्तानी सैन्य बलों ने एक बार फिर संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए नियंत्रण रेखा के पास मोर्टार दागे और स्वचालित हथियारों से हमला किया जिसमें दो लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य लोग घायल हो गए. पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर में पिछले तीन दिनों में तीसरी बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है. इससे पहले पाकिस्तानी बलों की गोलीबारी में एक महिला की मौत हो गई थी और तीन अन्य लोग घायल हुए थे. वहीं पाकिस्तान की ओर से लगातार हो रही फायरिंग को देखते हुए सीमा से सटे सभी स्कूलों को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है और सीमावर्ती इलाकों के लोगों को बंकर में शरण लेने के लिए कहा गया है.