जम्मू कश्मीर के DSP देविंदर सिंह बर्खास्त, 11 जनवरी को आतंकियों के साथ हुई थी गिरफ्तारी

जम्मू कश्मीर पुलिस ने DSP देविंदर सिंह को बर्खास्त कर दिया है. डीएसपी की गिरफ्तारी के 4 दिन बाद ये कार्रवाई की गई है.

जम्मू कश्मीर के DSP देविंदर सिंह बर्खास्त, 11 जनवरी को आतंकियों के साथ हुई थी गिरफ्तारी

जम्मू कश्मीर: जम्मू कश्मीर पुलिस ने DSP देविंदर सिंह को बर्खास्त कर दिया है. देविंदर सिंह की गिरफ्तारी आतंकियों के साथ 11 जनवरी को हुई थी. इसके अलावा खबर ये है कि जम्मू कश्मीर में DSP देविंदर सिंह का आतंकी संगठन हिज्बुल से कनेक्शन होने का शक है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि NIA, IG स्तर के एक अधिकारी को भी कश्मीर भेज रही है.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में चेकिंग के दौरान एक गाड़ी से हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था. चौंकाने वाली बात सामने आई है कि पकड़े गए आतंकियों के साथ कार में जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक डीएसपी भी मौजूद था, सुरक्षाबलों ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया था. आतंकियों के साथ पकड़े गए डीएसपी देविंदर सिंह एयरपोर्ट सिक्योरिटी में तैनात थे. अधिकारियों ने बताया था कि डीएसपी आतंकियों को घाटी से बाहर निकालने में मदद कर रहा था.

इससे पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस की जांच में खुलासा हुआ था कि कैसे देविंदर सिंह ने आतंकवादियों को पहले जम्मू और चंडीगढ़ और फिर दिल्ली ले जाने की योजना बनाई थी. सूत्रों का कहना है कि देविंदर सिंह काफी समय से सुरक्षाबलों के रडार पर था और पिछले साल नवीद बाबू को सफलतापूर्वक जम्मू ले गया था, जहां वे सिदरा इलाके में रुके थे और बाद में उसे भी वापस छोड़ दिया था.

इस बार हालात अलग थे, क्योंकि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आतंकी नवीद बाबू का फोन कॉल ट्रैस किया और पता चला कि आतंकी जम्मू जाने की योजना बना चुके हैं. पुलिस सूत्रों का कहना है कि देवेंद्र ने नवीद बाबू को जम्मू फिर चंडीगढ़ होते दिल्ली ले जाने के लिए मोटी रकम ली थी. सूत्रों का कहना है कि पुलिस द्वारा उसके इंद्र नगर घर से 12 लाख की राशि बरामद की गई थी.