जम्मू कश्मीर News

alt
जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के शहीद मोहम्मद हुसैन के परिजन पिछले 18 सालों से हुकूमत की तरफ से नजरअंदाज किए जा रहे थे. 8 मई 1999 को दहशतगर्दों के साथ मुकाबिले के दौरान हवलदार मोहम्मद हुसैन को कई गोलियां लगीं, जिसके नतीजे में मोहम्मद हुसैन शदीद तौर पर ज़ख्मी हो गए, फिर ज़ख्मों की ताब ना ला कर वह राहे हक में शहीद हो गए. लेकिन इसके बाद हुकूमत ने शहीद मोहम्मद हुसैन के परिवार को नजरअंदाज़ कर दिया और उनको कोई माली इमदाद नहीं मिली. इसी खबर को कुछ दिनों पहले Zee Salaam के प्रोग्राम Jai Hind Janab में दिखाया गया था, जिसका असर ये हुआ कि अब पुलिस डिपार्टमेंट ने शहीद मोहम्मद हुसैन परिवार वालों से राब्ता किया है और वादा किया है कि घर के एक फर्द को सरकारी नौकरी दी जाएगी. देखिए ये रिपोर्ट...
Aug 11,2021, 19:49 PM IST
Read More

Trending news