close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्मू बस स्टैंड पर ग्रेनेड हमले में हिज्बुल मुजाहिद्दीन का हाथ, आरोपी ने किया खुलासा : पुलिस

इस हमले में एक किशोर की मौत हो गई जबकि 32 लोग घायल हो गए. 

जम्मू बस स्टैंड पर ग्रेनेड हमले में हिज्बुल मुजाहिद्दीन का हाथ, आरोपी ने किया खुलासा : पुलिस
पिछले साल मई से लेकर अब तक बस स्टैंड इलाके में आतंकवादियों द्वारा हथगोले के जरिए किया गया यह तीसरा हमला है.

जम्मू: जम्मू शहर के बीचो-बीच स्थित भीड़-भाड़ वाले एक बस स्टैंड इलाके में ग्रेनेड से धमाका करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने ग्रेनेड फेंककर भागने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. ग्रेनेड फेंकने वाले युवक का नाम यासिर भट्ट है. वह कुलवामा का रहने वाला है. इस हमले में एक किशोर की मौत हो गई जबकि 32 लोग घायल हो गए.  

आईजीपी जम्मू मनीष के. सिन्हा ने अपने बयान में कहा कि यासिर भट्ट ने जम्मू बस स्टैंड पर ग्रेनेड फेंका. उसे हिजबुल कमांडर फारुक अहमद भट्ट उर्फ उमर ने यह काम सौंपा था. आरोपी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. आरोपी ग्रेनेड फेंकने सुबह ही जम्मू आया था. 

पिछले साल मई से लेकर अब तक बस स्टैंड इलाके में आतंकवादियों द्वारा हथगोले के जरिए किया गया यह तीसरा हमला है. सुरक्षा एजेंसियां इसे शहर में शांति एवं सौहार्द बिगाड़ने के प्रयास के तौर पर देख रही हैं. अधिकारियों ने कहा कि उत्तराखंड के हरिद्वार के निवासी 17 साल के मोहम्मद शरीक की अस्पताल में मौत हो गई. उसकी छाती पर चोट लगी थी। वह अस्पताल में भर्ती कराए गए 33 लोगों में शामिल था. उन्होंने कहा कि चार अन्य घायलों की हालत ‘‘गंभीर’’ है और इनमें से दो का डॉक्टरों ने ऑपरेशन किया है. अधिकारियों ने कहा कि घायलों में कश्मीर के 11, बिहार के दो और छत्तीसगढ़ एवं हरियाणा का एक-एक व्यक्ति शामिल है. 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि विस्फोट में बस स्टैंड पर खड़ी सरकारी बस को बहुत ज्यादा नुकसान हुआ और इस विस्फोट से लोगों में अफरा-तफरी मच गई. आईजी ने कहा, "जब भी चौकसी ज्यादा होती है, हम जांच-पड़ताल सख्त कर देते हैं लेकिन किसी-किसी के उससे बच निकलने की आशंका रहती है और यह ऐसा ही मामला लग रहा है." 

 

अधिकारी ने कहा कि शहर में इस तरह के हमले का कोई स्पष्ट इनपुट नहीं था. उन्होंने कहा, "सामान्य इनपुट हमेशा रहते हैं और तैनाती की जाती है. हमें जब भी इनपुट मिलता है तो हम इस पर काम करते हैं लेकिन इस बारे में कोई स्पष्ट इनपुट नहीं था." 

संदिग्ध आतंकवादियों ने 28-29 दिसंबर को स्थानीय थाने की इमारत को निशाना बनाकर बस स्टैंड पर ग्रेनेड से हमला किया था. इससे सात महीने पहले बी सी रोड पर 24 मई 2018 को एक अन्य विस्फोट हुआ था जिसमें दो पुलिसकर्मी और एक आम नागरिक घायल हुए थे. 

(इनपुट भाषा से)