10 साल की उम्र में 17 लोगों की जान बचाने वाली इस बच्ची को मिला राष्ट्रीय शौर्य पुरस्कार

मुंबई के क्रिस्टल टॉवर में लगी आग में 17 लोगों की जान बचाने वाली जेन सदावर्ते को राष्ट्रीय शौर्य पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

10 साल की उम्र में 17 लोगों की जान बचाने वाली इस बच्ची को मिला राष्ट्रीय शौर्य पुरस्कार
जेन सदावर्ते ने बचाई थी 17 लोगों की जान

नई दिल्ली: मुंबई के क्रिस्टल टॉवर में लगी आग में 17 लोगों की जान बचाने वाली जेन सदावर्ते को राष्ट्रीय शौर्य पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. जेन ने स्कूल में हादसों से निपटने का सबक सीखा था. जब क्रिस्टल टॉवर में आग लगी थी तब इस 10 साल की बच्ची ने बहुत हिम्मत और सूझ बूझ से काम लिया था. 

अफरा तफरी के बीच 10 साल की छात्रा जेन ने अपने स्कूल में बताए गए आग से बचने के उपायों को अपनाकर परिवार और कई पड़ोसियों की जान बचाई थी. जेन के पिता गुणरत्न पेशे से वकील हैं. पुरस्कार विजेता जेन सदावर्ते का कहना है कि किसी की जान बचाने से मैं संतुष्ट हूं और आगे सामाजिक कार्य करना चाहती हूं. जेन ने कहा कि वह ट्रान्सजेंडर्स के  अधिकारों के लिए काम करना चाहती हैं.

ये भी देखें-