close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

J&K: 2015 में आतंकी साजिश रचते हुए पकड़ा गया था त्राल मुठभेड़ में मारा गया दहशतगर्द

मुठभेड़ में मारे गए आतंकी इसके कब्‍जे से सुरक्षाबलों ने भारी तादाद में गोलाबारूद और हथियार बरामद किए हैं. 

J&K: 2015 में आतंकी साजिश रचते हुए पकड़ा गया था त्राल मुठभेड़ में मारा गया दहशतगर्द
सुरक्षाबल अब यह पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं कि मारा गया आतंकी किस आतंकवादी संगठन से जुड़ा हुआ था. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: जम्‍मू और कश्‍मीर के त्राल इलाके में ढेर किए गए आतंकी की पहचान सुरक्षाबलों ने पूरी कर ली है. इस आतंकी की पहचान शबीर मलिक के रूप में हुई है. वह मूल रूप से त्राल का ही रहने वाला है. इसके कब्‍जे से सुरक्षाबलों ने भारी तादाद में गोलाबारूद और हथियार बरामद किए हैं. सुरक्षाबल अब यह पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं कि मारा गया आतंकी किस आतंकवादी संगठन से जुड़ा हुआ था. 

सुरक्षाबल से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि आतंकी शबीर मलिक लंबे समय से आतंक की दुनिया में था. उसके खिलाफ जम्‍मू और कश्‍मीर के विभिन्‍न थाना क्षेत्रों में कई आतंकी गतिविधियों से जुड़े मामले दर्ज है. उन्‍होंने बताया कि आतंकी शबीर मलिक को 2015 में एक बार गिरफ्तार किया जा चुका है. 2015 में जम्‍मू और कश्‍मीर पुलिस ने उसे आतंकी साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया है. 

उल्‍लेखनीय है कि बुधवार सुबह पुलवामा के त्राल में हुई एक मुठभेड़ में केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ), राष्‍ट्रीय राइफल्‍स और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के स्‍पेशल ऑपरेशन स्‍क्‍वायड की संयुक्‍त टीम ने आतंकी शबीर मलिक को मार गिराया था. सुरक्षाबलों से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, बुधवार तड़के सुरक्षाबलों को सूचना मिली कि पुलवामा जिले के त्राल इलाके के अंतर्गत आने वाले बराइन पतरी गांव में कुछ आतंकियों मौजूद हैं. 

आतंकियों के बाबत सूचना मिलते ही 42 राष्‍ट्रीय राइफल्‍स और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस का स्‍पेशल ऑपरेशन ग्रुप मौके के लिए रवाना हो गया. सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरू किया. इसी बीच, आतंकियों को सुरक्षाबलों की कार्रवाई की भनक लग गई और उन्‍होंने सुरक्षाबलों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाना शुरू कर दी. गोलियों की आवाज सुनकर गांव वाले भी मुठभेड़ स्‍थल पर इकट्ठा होना शुरू हो गए. 

कुछ ही देर में, एक तरफ से आतंकियों की गोलियां और दूसरी तरह से पत्‍थरबाजों के पत्‍थर सुरक्षाबलों पर बरसने लगे. स्थिति काबू से बाहर जाती देख सीआरपीएफ को रिइंर्फोसमेंट के लिए कहा गया. जिसके बाद, सीआरपीएफ की 180वीं बटालियन को मौके के लिए रवाना कर दिया गया. 

मौके पर पहुंची सीआरपीएफ की एक टीम ने पत्‍थरबाजों को काबू करना शुरू किया, वहीं सीआरपीएफ की दूसरी टीम राष्‍ट्रीय राइफल्‍स और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के एसओजी के साथ मिलकर आतंकियों को अंजाम तक पहुंचाने में जुट गई. कुछ ही देर की गोलीबारी के बाद एक आतंकी को सुरक्षाबलों ने मार गिराया.