गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का हार्ट अटैक से निधन

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता रहे केशुभाई पटेल (keshubhai Patel) का 92 वर्ष की आयु में निधन हो गया है.

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का हार्ट अटैक से निधन
फाइल फोटो.

गांधीनगर: गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल (keshubhai Patel) का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है. केशुभाई पटेल दो बार गुजरात के मुख्यमंत्री (CM Gujrat) रहे हैं. कुछ दिन पहले ही वह कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित हुए थे. उन्होंने अहमदाबाद (Ahmadabad) के स्टर्लिंग अस्पताल में अंतिम सांस ली.

यह भी पढ़ें: PM मोदी का बड़ा ऐलान- सबको मिलेगी कोरोना वैक्सीन, कोई भी नहीं रहेगा अछूता

इलाज का नहीं हुआ कोई असर
डॉक्टरों के मुताबिक केशुभाई को सुबह सांस लेने में तकलीफ हुई. इसके बाद उनकी हालत बिगड़ती गई. कुछ वक्त पहले ही केशुभाई पटेल कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए थे. केशुभाई पटेल के परिवार के मुताबिक, कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक होने के बाद भी उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही थी. आज (गुरुवार) जब उन्हें दोबारा अस्पताल ले जाया गया तो उन्होंने कोई रिस्पॉन्ड नहीं किया.

बचपन में ही जुड़े संघ से
केशुभाई पटेल का जन्म गुजरात के जूनागढ़ में 24 जुलाई 1928 को हुआ था. वह शुरुआत से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS)  में सक्रिय रहे. वह लंबे समय तक संघ के प्रचारक भी रहे. बाद में वह जनसंघ और फिर बीजेपी के साथ जुड़ गए. केशुभाई पटेल 1995 और 1998 में दो बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने. 2001 में जब उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया तभी नरेंद्र मोदी पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे.

भाजपा के दिग्गज नेता
केशुभाई पटेल गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के दिग्गज नेता रहे हैं. गुजरात में उन्होंने पार्टी को गांव से लेकर शहर तक खड़ा किया. जनसंघ के समय से ही काडर तैयार करने में जुटे रहे. फलस्वरूप वह गुजरात मेंभाजपा के पहले मुख्यमंत्री बने. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केशुभाई पटेले को बेहद मानते. वह केशुभाई पटेल को गुरु दर्जा देते रहे. बाद में भाजपा से अनबन होने पर केशुभाई पटेल ने 2012 में अपनी नई पार्टी भी बनाई थी लेकिन भाजपा और संघ के विचारों से ज्यादा दिन वह अलग नहीं रह पाए जल्द ही अपनी पार्टी का विलय भाजपा में कर दिया.