विभिन्न मुद्दों पर हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही फिर से स्थगित

प्रश्नकाल शुरू होने के साथ ही कावेरी नदी पर बांध निर्माण का विरोध करते हुए अन्नाद्रमुक और आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग करते हुए तेदेपा सदस्य आसन के निकट पहुंच गए

विभिन्न मुद्दों पर हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही फिर से स्थगित
सुमित्रा महाजन ने हंगामा कर रहे सदस्यों को अपने स्थान पर जाने को कहा

नयी दिल्ली: राफेल मामले पर कांग्रेस, उत्तर प्रदेश के खनन मामले की जांच को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) तथा अलग-अलग मुद्दों पर अन्नाद्रमुक एवं तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के सदस्यों के हंगामे के कारण सोमवार को लोकसभा की कार्यवाही आरंभ होने के कुछ मिनटों बाद ही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. 

प्रश्नकाल शुरू होने के साथ ही कावेरी नदी पर बांध निर्माण का विरोध करते हुए अन्नाद्रमुक और आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग करते हुए तेदेपा सदस्य आसन के निकट पहुंच गए. कांग्रेस के सदस्य भी राफेल मामले में संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) के गठन की मांग करते हुए आसन के निकट आ गए. उन्होंने अपने हाथों में तख्तियां ले रखी थीं.

सपा के धर्मेंद्र यादव ने अपने स्थान पर खड़े होकर खनन मामले की जांच का मुद्दा उठाया और आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा का गठबंधन होने के साथ ही सीबीआई का दुरुपयोग शुरू कर दिया गया है. हंगामे के बीच ही तेदेपा सदस्य एन शिवप्रसाद अपने हाथ में चाबुक ले कर आसन के पहुंच गए और उससे खुद को मारने लगे.

इस पर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि यह ठीक नहीं है. सुमित्रा महाजन ने हंगामा कर रहे सदस्यों को अपने स्थान पर जाने  को कहा, लेकिन शोर-शराबा नहीं थमता देख उन्होंने कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी. कार्यवाही स्थगित होते ही तेदेपा सदस्य शिवप्रसाद ने सदन में एक ऑडियो प्लेयर ऑन कर दिया जिससे तेज आवाज में एक दक्षिण भारतीय गाना बजने लगा. 

तभी इस आडियो प्लेयर को भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने बंद किया. गौरतलब है कि पिछले सप्ताह लोकसभा की कार्यवाही में बाधा डालने के कारण स्पीकर ने अन्नाद्रमुक और तेदेपा सदस्यों सहित 45 सांसदों को मौजूदा सत्र की शेष अवधि से निलंबित कर दिया था.

(इनपुट-भाषा)