कोविड पर Nitin Gadkari ने लोगों को चेताया, कहा- बुरे से बुरे हालात के लिए रहें तैयार

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने लोगों को चेतावनी देते हुए कहा कि लोग कोरोना वायरस (Corona Virus) की इस दूसरी लहर में बुरे हालात के लिए तैयार रहें.

कोविड पर Nitin Gadkari ने लोगों को चेताया, कहा- बुरे से बुरे हालात के लिए रहें तैयार
नितिन गडकरी (फोटो सोर्स- पीटीआई)

नागपुर: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने बुधवार को नागपुर के नेशनल कैंसर इंस्टिट्यूट कोविड सेंटर के उद्घाटन समारोह में शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए लोगों को चेताया और कहा कि लोग कोरोना वायरस (Corona Virus) की इस दूसरी लहर में बुरे हालात के लिए तैयार रहें. इस अवसर पर बीजेपी नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस भी मौजूद थे.

कोरोना कब तक चलेगा, कोई गारंटी नहीं: गडकरी

नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) का कहा, 'कोरोना वायरस (Covid-19) और कितना खतरनाक होगा और कब तक चलेगा, इसकी कोई गारंटी नहीं है. घर के घर कोविड ग्रस्त हैं और आने वाले 15 दिन या 1 महीने में क्या होगा यह कहना मुश्किल है.' उन्‍होंने कहा, 'लोगों को सर्वश्रेष्ठ के लिए सोचना चाहिए, लेकिन सबसे खराब के लिए भी तैयार रहना चाहिए. इस महामारी से निपटने के लिए लॉन्ग टर्म प्लान की जरूरत है.'

'जल्‍द होगा रेमडेसिविर की कमी का निदान'

'रेमडेसिविर' की कमी के बारे में नितिन गडकरी ने कहा, 'देश में केवल चार दवा कंपनियों के पास ही कोविड-19 रोधी इस दवा का निर्माण करने का लाइसेंस है. केंद्र सरकार ने बुधवार को इस दवा के निर्माण के लिए आठ और कंपनियों को अनुमति दे दी, जिससे रेमडेसिविर की कमी का समाधान हो जाएगा.'

लाइव टीवी

'नागपुर में बड़ी संख्या में सामने आए महामारी के मामले'

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि नागपुर में बड़ी संख्या में महामारी के मामले सामने आ रहे हैं, जिससे अस्पतालों में बिस्तरों, दवाओं और ऑक्सीजन के भंडार की कमी हो गई है. उन्होंने कहा, 'स्थिति को देखते हुए हमने लोगों के इलाज के लिए राष्ट्रीय कैंसर केंद्र में कोविड-19 देखभाल केंद्र की स्थापना की है.'
 
महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ रहा कोरोना वायरस

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) नागपुर से सांसद हैं और फिलहाल महाराष्ट्र में मुंबई व पुणे के साथ-साथ नागपुर में भी कोरोना वायरस (Coronavirus in Maharashtra) के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोना की दूसरी लहर के बीच महाराष्ट्र के नागपुर में ही सबसे पहले लॉकडउन लगाया गया था.

मेडिकल ऑक्सीजन का आयात करेगी सरकार

देश में कोरोना की दूसरी लहर को ध्यान में रखते हुए सरकार ने फैसला किया है कि वो अब मेडिकल ऑक्सीजन का आयात करेगी. सरकार ने फिलहाल 50 हजार मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन इम्पोर्ट करने का फैसला किया है. केंद्र सरकार का ध्यान उन 12 राज्यों पर है, जहां कोरोना के मामलों के बढ़ने से ऑक्सीजन की मांग भी बढ़ गई है. इन 12 राज्यों में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान शामिल हैं. इस बीच केंद्र ने राज्यों को भी सख्त निर्देश जारी कर ये सुनिश्चित करने को कहा है कि ऑक्सीजन को सौ प्रतिशत इस्तेमाल किया जाए, ताकि हर जरूरतमंद के पास ऑक्सीजन पहुंच सके.

24 घंटे में सामने आए 2 लाख से ज्यादा नए मामले

भारत में गुरुवार को कोरोना वायरस (Cornavirus in India) के सारे रिकॉर्ड टूट गए और देशभर में पहली बार 24 घंटे में 2 लाख से ज्यादा मामले सामने आए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, 24 घंटे में 2 लाख 739 लोग कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित हुए, जबकि इस दौरान 1038 लोगों की जान गई. इसके बाद भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 40 लाख 74 हजार 564 हो गई है और 1 लाख 73 हजार 123 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. वहीं 24 घंटे में देशभर में 93 हजार 528 लोग कोविड-19 से ठीक हुए, जिसके बाद ठीक हुए लोगों की कुल संख्या 1 करोड़ 24 लाख 29 हजार 564 हो गई है. हालांकि पिछले 24 घंटे में एक्टिव मामलों में 1 लाख 6 हजार 173 बढ़ोतरी हुई है और अब भारत में कोरोना वायरस के 14 लाख 71 हजर 877 एक्टिव केस मौजूद हैं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.