अजीत जोगी के निधन पर 3 दिवसीय राजकीय शोक घोषित, शनिवार को पैतृक गांव में अंतिम संस्कार

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन से राज्य में शोक की लहर है. प्रदेश सरकार ने राज्य में आज से तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है. इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और किसी तरह के शासकीय समारोह आयोजित नहीं किए जाएंगे.

अजीत जोगी के निधन पर 3 दिवसीय राजकीय शोक घोषित, शनिवार को पैतृक गांव में अंतिम संस्कार
पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी (फाइल फोटो)

रायपुर: छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन से राज्य में शोक की लहर है. प्रदेश सरकार ने राज्य में आज से तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है. इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और किसी तरह के शासकीय समारोह आयोजित नहीं किए जाएंगे. स्वर्गीय जोगी का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ 30 मई को उनकी जन्मभूमि गौरेला में किया जाएगा.

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी ने जानकारी देते हुए बताया कि लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए शनिवार को सुबह 9 बजे उनके पार्थिव शरीर को रायपुर से मरवाही सदन बिलासपुर के लिए ले जाया जाएगा. जहां जन साधारण के अंतिम दर्शन के बाद उन्हें वहां से आगे रतनपुर केंदा मार्ग होते हुए पैतृक गांव जोगीसार, गौरेला ले जाया जाएगा.

उन्होंने बताया कि गौरेला में लोगों के अंतिम दर्शन के बाद अजीत जोगी का अंतिम संस्कार सेनेटोरियम कब्रिस्तान में पूरे रीति रिवाजों के अनुसार किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: ब्यूरोक्रेसी में कलेक्टर से लेकर राजनीति के 'अजीत' तक, जानिए जोगी की कहानी

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी जी का निधन आज दोपहर 3 बजकर 30 मिनट पर हुआ है. रायपुर स्थित श्रीनारायणा अस्पताल में उन्होंने अपनी आखिरी सांस ली.

watch live tv: