छत्तीसगढ़ः बिजली कटौती पर युवक ने सोशल मीडिया पर डाली पोस्ट, पुलिस ने राजद्रोह का केस दर्जकर भेजा जेल
topStories1rajasthan540008

छत्तीसगढ़ः बिजली कटौती पर युवक ने सोशल मीडिया पर डाली पोस्ट, पुलिस ने राजद्रोह का केस दर्जकर भेजा जेल

बिजली कटौती से संबंधित एक वीडियो शेयर करने पर राजनांदगांव के मुसरा डोंगरगढ़ के रहने वाले मांगेलाल अग्रवाल को राजद्रोह की धारा 124 ए के तहत गिरफ्तार किया गया है. मांगेलाल को बिजली कंपनी की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया है.

छत्तीसगढ़ः बिजली कटौती पर युवक ने सोशल मीडिया पर डाली पोस्ट, पुलिस ने राजद्रोह का केस दर्जकर भेजा जेल

(किशोर शिल्लेदार/रायपुर): छत्तीसगढ़ में बिजली कटौती से संबंधित एक पोस्ट शेयर करने पर युवक को भारी पड़ गया. पुलिस ने राजद्रोह के अंतर्गत उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. राजनांदगांव के मुसरा डोंगरगढ़ के रहने वाले मांगेलाल अग्रवाल को राजद्रोह की धारा 124 ए के तहत गिरफ्तार किया गया. मांगेलाल को बिजली कंपनी की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया. वहीं मांगेलाल की गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सीके केशरवानी का कहना है कि 'राज्य सरकार का यह फैसला पूरी तरह से अलोकतांत्रिक है. इस देश में हर व्यक्ति को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार है. ऐसे में सरकार का यह फैसला संविधान मूलधारणा के खिलाफ है. यह देश की जनता के अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार का हनन है.'

उधर, सीएम भूपेश बघेल ने कहा, "हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के पक्षधर हैं. राजद्रोह का मुकदमा नहीं लगना चाहिये था. दूसरी धाराओं में कार्रवाई होगी. मैने पूरे मामले पर डीजीपी से बातकर नाराजगी जाहिर की. लोग भी अभिव्यक्ति के दौरान संयम बरते. महासमुंद में पत्रकार पर भी इस तरह के मामले में अपराध दर्ज करने का पता चला है, उसे भी हटाया जाएगा." 

 

छत्तीसगढ़ः जल संकट से परेशान ग्रामीणों ने नदी में 2 किमी गड्ढा खोदकर निकाला पानी और बुझाई प्यास

क्या है राजद्रोह के तहत आईपीसी की धारा 124 A 
धारा 124 A के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति सरकार विरोधी सामग्री लिखता है या बोलता है, ऐसी सामग्री का समर्थन करता है, राष्ट्रीय चिन्हों का अपमान करने के साथ संविधान को नीचा दिखाने की कोशिश करता है, अपने लिखित या फिर मौखिक शब्दों या फिर छीन लो या फिर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर नफरत फैलाने या फिर असंतोष जाहिर करता है, तो उसे आजीवन या 3 साल की सजा हो सकती है.

छत्तीसगढ़ कांग्रेस का कहना है कि बिजली कटौती को लेकर भाजपा लगातार अफवाह फैलाने में जुटी हुई है. भाजपा का एक धड़ा इसी और काम कर रहा है किसी भी प्रकार से बिजली को लेकर गलत जानकारी देते हुए अफवाह उड़ा ना या उसे प्रचारित करना राज्य के खिलाफ माहौल बनाना है. शासन के खिलाफ इस तरह के अनैतिक कार्यों की वजह से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

CG: जर्जर पड़े हैं 398 स्कूल भवन, क्या फिर जान जोखिम में डालकर नौनिहाल करेंगे पढ़ाई?

वहीं कांग्रेस मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नए फरमान के बाद भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा है. भाजपा का कहना है कि सरकार का यह चरित्र है कि अब लोगों को जेल में डाला जा रहा है. लोग बिजली गुल होने की अपनी पीड़ा भी सोशल मीडिया में शेयर नहीं कर सकते. ऐसे में तो इमरजेंसी जैसे हालात पैदा किए जा रहे हैं. सरकार लोगों का मुंह दबाने का काम कर रही.

Trending news