सहकारिता सम्मेलन में शामिल हुए CM भूपेश बघेल, 96 लाख की लागत से यहां बनेगा सहकारी बैंक
X

सहकारिता सम्मेलन में शामिल हुए CM भूपेश बघेल, 96 लाख की लागत से यहां बनेगा सहकारी बैंक

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दुर्ग जिले के सेलूद में आयोजित सहकारिता सम्मेलन में बेमेतरा में सहकारी बैंक के नए भवन की घोषणा की. यह भवन 96 लाख की लागत से बनाया जाएगा. 

सहकारिता सम्मेलन में शामिल हुए CM भूपेश बघेल, 96 लाख की लागत से यहां बनेगा सहकारी बैंक

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दुर्ग जिले के सेलूद में आयोजित सहकारिता सम्मेलन में बेमेतरा में सहकारी बैंक के नए भवन की घोषणा की. यह भवन 96 लाख की लागत से बनाया जाएगा. उन्होंने सहकारिता सम्मेलन में कहा कि सहकारिता कानून इतने क्लिष्ट होते थे कि आम जनता को समझ में नहीं आते थे. जिसकी वजह से उन्हें काफी परेशानी होती थी. हमने सरकार में आते ही इन कानूनों को सरल करने के लिए कहा ताकि आम जनता को भी यह आसानी से समझ में आएं और उनके लिए सहकारिता से लाभ उठाना आसान हो.

एल. मुरुगन के नाम पर सियासत, कांग्रेस का आरोप- बाहरी को राज्यसभा भेजकर BJP एमपी की आवाज कर रही कम

मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ पहला ऐसा राज्य है, जिसने सहकारिता के महत्व को समझा. यहां सोसाइटी के माध्यम से धान की खरीदी आरंभ हुई जिसके लिए वासुदेव चंद्राकर जैसे पुरखों का बहुत बड़ा योगदान है. हमने किसानों के लिए न केवल कर्ज माफी की अपितु साथ ही सिंचाई कर भी माफ किया. इसके साथ ही स्व सहायता समूहों का कर्ज माफ किया. भूमिहीन कृषकों के लिए योजना शुरू की गई है. उन्होंने कहा कि नरवा गरवा घुरवा बाड़ी के माध्यम से हम तेजी से ग्रामीण विकास को बढ़ावा देने की दिशा में कार्य कर रहे हैं. प्रदेश में गोबर से बिजली बनाने के संबंध में भी विचार हो रहा है. गौठान के गोबर की बिजली से गांव की स्ट्रीट लाइट, हालर मिल आदि इसी बिजली से चल सकेगी. उन्होंने कहा कि गौठान आत्मनिर्भर ग्रामीण आजीविका केंद्र के रूप में विकसित हो रहे हैं. जिससे स्थानीय महिलाओं को रोजगार की नई संभावनाएं विकसित हो रही है.

धान खरीदी केन्द्रों की संख्या बढ़ी
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने धान खरीदी केंद्रों की संख्या को भी बढ़ाया गया ताकि जनता को किसी तरह की असुविधा न हो. पहले 2000 धान खरीदी केंद्र थे अब इनकी संख्या बढ़कर 2300 हो गई है. इसके साथ ही पहले किसानों को तहसील केंद्र तक आने में काफी दूरी तय करनी पड़ती थी. हमने नए तहसील बनाए और अब 222 तहसीलों के माध्यम से किसानों को सुविधा आसान हो गई है.

एटीएम का हुआ शुभारंभ
मुख्यमंत्री ने इस मौके पर देवरबीजा बैंक शाखा में 40 लाख की लागत से बने एटीएम का शुभारंभ किया गया. वहीं 15 लाख की लागत से बने तरौद खाद गोदाम का भूमि पूजन भी किया. उन्होंने पहांदा के शहीद परिवार के परिजनों को 20 लाख रूपए का चेक प्रदान किया. साथ ही स्व-सहायता समूह नया सवेरा को वर्मी कंपोस्ट के वितरण से प्राप्त लाभांश राशि 37 हजार 597 और सत्य कबीर समहू की महिलाओं को 48 हजार 75 रूपए का चेक दिया.

30 लाख साल पुराना डायनासोर युगीन विलुप्त फर्न प्रजाति का 2000 वर्ष पुराना पेड़ हुआ नष्ट 

मुख्यमंत्री ने नंदोरी धान केंद्र में अपने कर्तव्य के लिए जान गवाने वाले चौकीदार स्वर्गीय हरि शंकर वर्मा की पत्नी श्रीमती रेखा वर्मा को सहकारी बैंक द्वारा एक लाख रूपए की सहायता राशि प्रदान की गई. वर्ष 2020-21 में धान उपार्जन में शून्य प्रतिशत शॉर्टेज वाली कुल 19 समितियों को उत्कृष्ट कार्य करने के लिए समिति के अध्यक्ष् एवं प्रबंधक को प्रशस्ति पत्र का वितरण किया. सम्मेलन में 311 समितियों के 5000 प्रतिनिधि शामिल हुए. सहकारिता सम्मेलन में कृषि विभाग द्वारा शासकीय योजनाओं से संबंधित स्टॉल भी लगाए गए थे.

इतने लोग उपस्थित हुए
सहकारिता सम्मेलन को सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ,गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविंद्र चौबे, विधायक अरुण वोरा, कुंवर निषाद और संगीता सिन्हा, अपेक्स बैंक के चेयरमैन बैजनाथ चंद्राकर, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष जवाहर वर्मा ने भी सम्बोधित किया. इस मौके पर विधायक आशीष छाबड़ा, गुरूदयाल बंजारे, पूर्व विधायक प्रदीप चौबे, प्रतिमा चंद्राकर, जिला मंडी बोर्ड अध्यक्ष अश्वनी साहू उपस्थित थे.

WATCH LIVE TV

Trending news