अविश्वसनीय! परेशानी नहीं हुई बर्दाश्त, किराये के शूटरों से ग्रामीणों ने करवा दी 15 से ज्यादा बंदरों की हत्या

मामले को गंभीरता से लेते हुए वन विभाग ने दो अलग-अलग टीमों को गठित कर छानबीन शुरू कर दी. पूछताछ में कुछ लोगों के नाम सामने आए हैं.

अविश्वसनीय! परेशानी नहीं हुई बर्दाश्त, किराये के शूटरों से ग्रामीणों ने करवा दी 15 से ज्यादा बंदरों की हत्या
वन विभाग आरोपियों को तलाशने में लगा है

सतीश तम्बोली/कवर्धाः छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में किराये के शूटरों द्वारा 15 से ज्यादा बंदरों की हत्या करवा दी गई. मामला पिपरिया थाने के बिरकोना, धरमपुरा व आसपास के गांवों से सामने आया. बताया गया है कि गांव वालों ने बंदरों से परेशानी के चलते किराए के शूटर से उनकी हत्या करवाई. बंदरों की हत्या की सूचना वन विभाग को तब लगी जब अचानक डेढ़ दर्जन से ज्यादा बंदरों की मौत का मामला की खबर आई. 

वन विभाग ने शवों का करवाया पोस्टमार्टम
बंदरों की मौत की सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम कोठार और बिरकोना गांव पहुंची. यहां बंदरों के शव बरामद किए और दो के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. जहां डॉक्टरों ने रिपोर्ट में बताया कि मृत बंदरों के शरीर में छर्रे मिले हैं. उन्होंने बताया कि बंदरों को एयर गन से शूट किया गया है. 

मामले को गंभीरता से लेते हुए वन विभाग ने दो अलग-अलग टीमों को गठित कर छानबीन शुरू की. पूछताछ में कुछ लोगों के नाम सामने आए, लेकिन अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है.

यह भी पढ़ेंः- वैक्सीनेशन में 'टेक्निकल' गड़बड़ी! 5 माह पहले मर चुकी महिला को लग गया सेकंड डोज, सर्टिफिकेट भी हो गया जारी

पशु क्रूरता अधिनियम के तहत होगी गिरफ्तारी
वन विभाग द्वारा जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लेने की बात कही जा रही है. विभाग द्वारा बताया गया कि ग्रामीणों द्वारा बंदरों के मरवाने पर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी. ग्रामीणों से शूटर के बारे में सूचना देने की अपील भी की गई है. पूछताछ के बाद संदेही आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही मामले में खुलासा हो सकेगा.

यह भी पढ़ेंः- धार की घटना पर सियासत: विपक्ष ने बताया- तालिबानी सरकार, BJP का पलटवार- कांग्रेस कोरोना जैसी

WATCH LIVE TV