कांग्रेस विधायक जुटा रहे राम मंदिर निर्माण का चंदा, क्षेत्र के लोगों से कर रहे अपील

राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिंदू परिषद देशभर के राम भक्तों से चंदा इकट्ठा कर रही है. मंदिर निर्माण कई विशेषज्ञ कम्पनियों द्वारा किया जाएगा.

कांग्रेस विधायक जुटा रहे राम मंदिर निर्माण का चंदा, क्षेत्र के लोगों से कर रहे अपील

इरशाद हिंदुस्तानी/बैतूलः पिछले साल 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर का भूमिपूजन किया था. तब से ही राम मंदिर बनाने की तैयारियां तेज हो गई. इसके लिए विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता, संतों व शेष समाज के साथ लोगों के घर-घर जाकर निर्माण राशि जुटाएंगे. इस काम में पार्टी से इतर मध्य प्रदेश में कांग्रेस विधायक ने क्षेत्र में चंदा इकट्ठा करने की जिम्मेदारी अपने सर ली है.

यह भी पढ़ेंः- एम्बुलेंस में जन्मी लक्ष्मीः मेडिकल स्टाफ ने बीच रास्ते करवाई सफल डिलीवरी, मां-बेटी दोनों स्वस्थ 

क्षेत्र में घर-घर जाकर जुटा रहे चंदा
राम मंदिर निर्माण में अपना योगदान देने हेतु बैतूल विधायक निलय डागा अपने क्षेत्र में रकम इकट्ठा करने के लिए घर-घर घूम रहे हैं. चंदा इकट्ठा करने में सभी के साथ के लिए वह सहभागिता अभियान चला रहे हैं. उन्होंने माथनी गांव से इस सहभागिता अभियान की शुरुआत की और आज बैतूल पहुंच कर लोगों से चंदा देने की अपील की.

राशि एकत्रित करने के लिए 51 दान पात्र किए तैयार
चंदा इकट्ठा करने की शुरुआत डागा ने 102 वर्ष प्राचीन राम मंदिर में पूजा अर्चना के साथ की. डागा ने बताया कि मंदिर निर्माण को लेकर सहयोग राशि एकत्रित करने के लिए 51 दान पात्र तैयार किए गए हैं. दान पात्रों को विधानसभा के प्रत्येक गांव के घरों में पहुंचाया जाएगा, जहां उनसे मंदिर निर्माण की राशि जुटाई जाएगी. एकत्रित राशि अयोध्या के राम मंदिर ट्रस्ट को भेजी जाएगी. दान के लिए एक रुपये की राशि सुनिश्चित की गई है, दानदाता अपनी श्रद्धा अनुसार ज्यादा भी दान कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः- कारनामा कन्टीन्यूः ठेला धकेलते मिले ऊर्जा मंत्री तो चौंक गए सुबह की सैर पर निकले लोग, VIDEO हो रहा वायरल

कई नामी और प्रसिद्ध कम्पनियां कर रही हैं मंदिर निर्माण
सुप्रीम कोर्ट द्वारा मंदिर निर्माण के लिए रामलला को जमीन दी गई. जिसे विश्व हिंदू परिषद और देश के अन्य राम भक्तों के दान की मदद से बनाया जाएगा. मंदिर को दिल्ली, चेन्नई, मुंबई व गुवाहाटी के आईआईटी, सीबीआरआई रुड़की, टाटा और लार्सन एंड टूब्रो के विशेषज्ञ इंजीनियर के परामर्श के साथ बनाया जाएगा. जल्द ही मंदिर की नींव का प्रारूप भी सामने आएगा. मंदिर में प्रत्येक मंजिल की ऊंचाई 20 फीट, लंबाई 360 फीट तथा चौड़ाई 235 फीट है.

ये भी पढ़ेः- 

हैप्पी बर्थ डे राहत इंदौरी: किसने कहा था राहत इंदौरी से कि " पहले तो 5 हजार शेर याद कर लो, फिर शायर बनना''

कोरोना के डर से पीपीई किट पहनकर कोविड वार्ड में घुसा चोर, एलईडी टीवी उठा ले गया

मोहन भागवत ने महात्मा गांधी को बताया सबसे बड़ा हिंदू देशभक्त, कहा-उनका दर्शन आज भी प्रासंगिक

WATCH LIVE TV