गोडसे जयंती मनाने पर पूर्व CM कमलनाथ ने जताई थी आपत्ति, हो सकती है हिंदू महासभा के खिलाफ कार्रवाई

बताया जा रहा है कि आज देर शाम इस मामले में कार्रवाई की जाएगी. वहीं प्रशासन द्वारा कार्रवाई की तैयारी करने पर हिंदू महासभा ने सड़कों पर उतर विरोध जताने की चेतावनी दी है. हिंदू महासभा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी दी चेतावनी देते हुए कहा है कि वह नाथूराम गोडसे जैसे शहीदों को याद करती रहेगी. 

गोडसे जयंती मनाने पर पूर्व CM कमलनाथ ने जताई थी आपत्ति, हो सकती है हिंदू महासभा के खिलाफ कार्रवाई

ग्वालियर: हिंदू महासभा के गोडसे जयंती मनाने के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के ट्वीट के बाद ग्वालियर जिला प्रशासन हरकत में आ गया है. मामले को लेकर कलेक्टर और पुलिस अधिकारियों कार्रवाई की योजना बनाई है. एडीएम किशोर कान्याल ने बताया कि गोडसे की जयंती को लेकर दीपक जलाने के आयोजन की जानकारी मिली है. इसमें पुलिस अधीक्षक को कानूनी पहलुओं के आधार पर कार्रवाई करने के लिए कलेक्टर द्वारा निर्देश दिए गए हैं. 

बताया जा रहा है कि आज देर शाम इस मामले में कार्रवाई की जाएगी. वहीं प्रशासन द्वारा कार्रवाई की तैयारी करने पर हिंदू महासभा ने सड़कों पर उतर विरोध जताने की चेतावनी दी है. हिंदू महासभा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी दी चेतावनी देते हुए कहा है कि वह नाथूराम गोडसे जैसे शहीदों को याद करती रहेगी. कांग्रेसियों को बुरा लगे तो कोई फर्क नही पड़ता. हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. जयवीर का ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को 1984 सिख दंगों का आरोपी बताया है. उन्होंने सवाल किया कि क्या कमलनाथ सरकार चला रहे हैं जो प्रशासन पर दबाव बना हिंदू महासभा पर प्रकरण दर्ज कराना चाहते हैं. 

ग्वालियर: हिंदू महासभा ने मनाई नाथूराम गोडसे की जयंती, कांग्रेस ने शिवराज सरकार को घेरा

क्या था मामला
दरअसल, मंगलवार को नाथूराम गोडसे की पूजा-पाठ हिंदू महासभा के कार्यालय में की गई थी. हिंदू महासभा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने नाथूराम की 111वीं जयंती पर 111 दीपक जलाए थे. हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने दावा किया था कि हिंदू महासभा के तीन हजार से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने अपने घरों में दीपक जलकर गोडसे जयंती मनाई थी. इसको लेकर कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आपत्ति दर्ज कर कार्रवाई की मांग की थी. 

तीन साल पहले भी हुआ था विवाद
इससे पहले साल 2017 में हिंदू महासभा ने गोडसे की मूर्ति को स्थापति किया था. उस वक्त भी कांग्रेस ने काफी हंगामा किया था. 7 दिन बाद गोडसे की मूर्ति को प्रशासन ने जब्त कर लिया था.