कोरोना संकट में भी MP की सियासत गर्म: कमलनाथ के आरोपों पर BJP का पलटवार, उल्टा पूछे ये सवाल

कांग्रेस जहां कोरोना को काबू कर पाने में सरकार को असफल बता रही है, तो वहीं बीजेपी ने कमलनाथ सरकार के कार्यकाल की याद दिलाते हुए उल्टा उनसे ही पांच सवाल पूछ लिए.

कोरोना संकट में भी MP की सियासत गर्म: कमलनाथ के आरोपों पर BJP का पलटवार, उल्टा पूछे ये सवाल

भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरोना संकट के बावजूद सियासत चरम पर है. पक्ष और विपक्ष अपने-अपने तर्कों के साथ आमने-सामने हैं. सूबे के पूर्व मुखिया कमलनाथ के आरोपों पर खुद भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और पार्टी ने मोर्चा खोल दिया है. कांग्रेस जहां कोरोना को काबू कर पाने में सरकार को असफल बता रही है, तो वहीं बीजेपी ने कमलनाथ सरकार के कार्यकाल की याद दिलाते हुए उल्टा उनसे ही पांच सवाल पूछ लिए.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने ट्वीट के जरिए पलटवार करते हुए लिखा कि जब प्रदेश को कोरोना के खिलाफ लड़ाई की तैयारी करनी चाहिए थी, तब तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ IIFA की तैयारियों में पूरे प्रसाशन के साथ व्यस्त थे. यही कारण है कि इंदौर और भोपाल आज इस स्थिति में है.

वीडी शर्मा ने पूछा कि 30 जनवरी से 20 मार्च तक प्रदेश को इस महामारी से बचाने के लिए क्या-क्या कदम उठाए गए? इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि प्रदेश के लिए यह राहत की बात है कि इस समय कांग्रेस सत्ता में नहीं है.

MP: कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 1407, अब तक 72 लोगों की मौत

भाजपा ने कमलनाथ से पूछे ये पांच सवाल

1. कमलनाथ जी केंद्र सरकार के स्पष्ट दिशा निर्देश के बावजूद भी विदेश यात्रा से लौटे नागरिकों से क्या सख्ती से सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म भरवाए गए? केंद्र द्वारा तय किये जाने के बाद भी उन्हें Home Quarantine की विधिवत तौर पर सख्त निगरानी सुनिश्चित क्यों नहीं की? जिस कारण आज पूरा इंदौर समेत मालवा संकट में है?

2. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 6 मार्च को स्वास्थ्य विभाग की एक अहम कार्यशाला आत्मसुरक्षा के उपाय हेतु तय की थी जिसे राज्य सरकार द्वारा नहीं किया गया? आखिर क्यों? जिसका खामियाजा पूरे स्वास्थ्य विभाग को भुगतना पड़ रहा है.

3. जिला स्वास्थ्य अधिकारियों को 25 जनवरी को जानकारी देकर आगाह किया जाना तय हुआ था, लेकिन डेडिकेटेड हॉस्पिटल, वॉर्ड, बेड तय क्यों नहीं किये गए. जो प्राथमिक कार्य भी भाजपा की शिवराज सरकार में तेजी से करना पड़ा.

4. केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आपको 27 जनवरी को मुख्यमंत्री के नाते आपसे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, कर्मचारियों और डॉक्टरों के लिए PPE किट्स, मास्क समेत अन्य सुरक्षा उपकरण खरीदने जरूरत बताई थी. आप बताएंगे आपने मुख्यमंत्री रहते हुए इस मामले इन 2 महीनों में क्या किया?

5. कोरोना वायरस पर 13 मार्च को भोपाल में मीडिया द्वारा आपसे पूछने पर आपने कोरोना वायरस की बजाय राजनीति में कोरोना को दूर करने की बात कहकर क्या कोविड- 19 के प्रति पूरी सरकारी व्यवस्था व समाज को सावधान करने की बजाय मजाक नहीं बनाया?

(हमने BJP प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल द्वारा पूछे गए सवाल हूबहू लिए हैं.)

ये भी पढ़ें: MP में 'मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना' की शुरुआत, कोरोना वॉरियर्स का 50 लाख का बीमा