MP: मुंबई के पहले डॉन रहे हाजी मस्तान के माफिया साथी शफी की संपत्ति पर चला बुलडोजर

पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी ने बताया कि कुख्यात मादक पदार्थ तस्कर मोहम्मद शफी अंतर्राष्ट्रीय तस्कर है. 1975 से ही या मादक पदार्थ अफीम और ब्राउन शुगर की तस्करी में संलिप्त रहा है.

MP: मुंबई के पहले डॉन रहे हाजी मस्तान के माफिया साथी शफी की संपत्ति पर चला बुलडोजर
उन्होंने बताया कि इस पर पहले भी सफेमा और पीटा के तहत धारा 68 के तहत भी कार्रवाई की जा चुकी है.

मनीष पुरोहित/मंदसौर: मध्यप्रदेश के मंदसौर में माफियाओं के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के अंतर्गत फरार अंतरराष्ट्रीय तस्कर मोहम्मद शफी के रिश्तेदारों की संपत्ति पर प्रशासन का हथोड़ा चला. मोहम्मद शफी 1975 से कुख्यात अंतर्राष्ट्रीय तस्कर है. मुंबई में हाजी मस्तान से गठजोड़ कर चांद तारा ब्रांड के नाम से अफीम इसके द्वारा भेजी जाती थी. 

मध्यप्रदेश के मंदसौर में तस्कर माफियाओं और भू माफियाओं के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई लगातार जारी है. इस कार्रवाई के अंतर्गत जिले के नामी तस्करों को चिन्हित किया गया है. उनके और उनके रिश्तेदारों के नाम पर दर्ज तमाम संपत्तियों के खिलाफ प्रशासन लगातार कार्रवाई कर रहा है और संपत्ति को नष्ट किया जा रहा है.

पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी ने बताया कि कुख्यात मादक पदार्थ तस्कर मोहम्मद शफी अंतर्राष्ट्रीय तस्कर है. 1975 से ही या मादक पदार्थ अफीम और ब्राउन शुगर की तस्करी में संलिप्त रहा है. इस पर और उसके परिवार पर सैकड़ों अपराध दर्ज हैं. कई वर्षों से अयूब और मोहम्मद शफी दोनों भाई फरार है. ये कुख्यात तस्कर रहे हैं और अभी भी हैं. उन्होंने बताया कि मुंबई के हाजी मस्तान से इनके लिंक जुड़ते हैं. उन्होंने बताया कि मोहम्मद शफी चांद तारा नाम से ब्रांडेड अफीम बनाता था. फिर इसने इसी अफीम को मुंबई में हाजी मस्तान के थ्रू इंट्रोड्यूस किया था. 

उन्होंने बताया कि इस पर पहले भी सफेमा और पीटा के तहत धारा 68 के तहत भी कार्रवाई की जा चुकी है. उन्होंने कहा कि ये कुख्यात तस्कर और बड़े अपराधी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. उन्होंने बताया कि पुलिस प्रशासन और नगर पालिका द्वारा आज इनकी करोड़ों की संपत्ति को नष्ट किया गया है, जो एक बड़ी सफलता है.