close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP की मासूम बच्ची ने कश्मीर को लेकर पीएम मोदी के लिए लिखी कविता, भेजी राखी

वह हर साल जवानों को अपना भाई मानकर राखी भेजती है लेकिन अब की बार पीएम नरेंद्र मोदी के देश हित में लिए गए फैसलों से प्रभावित होकर मंत्रिता ने पीएम मोदी को भी रक्षा सूत्र भेजा है. 

MP की मासूम बच्ची ने कश्मीर को लेकर पीएम मोदी के लिए लिखी कविता, भेजी राखी
मंत्रिता की यह पहल उसके देश प्रेम और सैनिकों के प्रति सम्मान की प्रेरणा देती है.

कर्ण मिश्रा, ग्वालियर: इस बार देश की आजादी का जश्न कुछ और ही है क्योंकि इस बार 15 अगस्त और रक्षाबंधन बंधन दोनों एक साथ होने से अनोखा संयोग माना जा रहा है. दोनों ही देश और भाई बहन के प्यार और रक्षा से जुड़े हैं. चाहे वह देश की रक्षा का मामला हो या फिर भाई का अपनी बहन की रक्षा का किया हुआ वादा. इस संयोग को ग्वालियर शहर की एक 6 साल की नन्ही मंत्रिता शर्मा ने देश भक्ति के साथ अपने देश प्रेम को व्यक्त किया है. मंत्रिता ने रक्षाबंधन के लिए देश की रक्षा करने वाले जवान और पीएम नरेंद्र मोदी को राखी भेजी है. यह पहली बार नहीं है कि नन्ही मंत्रिता ने राखी पर देश के वीर जवानों को राखी भेजी हो. 

वह हर साल जवानों को अपना भाई मानकर राखी भेजती है लेकिन अब की बार पीएम नरेंद्र मोदी के देश हित में लिए गए फैसलों से प्रभावित होकर मंत्रिता ने पीएम मोदी को भी रक्षा सूत्र भेजा है. इतना ही नहीं आर्टिकल 370 और 35A को लेकर उसने एक बधाई संदेश भी लिखा है. इस नन्ही बच्ची का कोई भाई नहीं है, लेकिन इस बच्ची के लिए राखी का त्योहार बहुत खास होता है, ये बच्ची देश की सीमा पर तैनात सैनिकों को भाई मानकर राखियां भेजती है. साथ ही सैनिकों के लिए अपने हाथ से लिखे संदेश वाला ग्रीटिंग, रोली और चावल भी भेजती है.

दरअसल, नन्ही मंत्रिता ने इस बार फिर रक्षाबंधन के त्योहार पर देश के जवानों को रक्षा सूत्र भेजा है लेकिन इस बार उसने पीएम नरेंद्र मोदी को भी राखी भेजी है. मंत्रिता का कहना है कि हमारे देश के जवान हमारी और इस देश की रक्षा करते हैं. ऐसे में पवित्र त्योहार रक्षाबंधन पर वह घर नहीं आ पाते हैं इसलिए वह उनको अपना भाई मान कर हर साल राखी भेजती है. लेकिन वह इस बार पीएम नरेंद्र मोदी को भी राखी भेज रही है. 

उसका कहना है कि देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 और 35A हटाया है जो कि बहुत बड़ा कदम है. इससे वह बहुत प्रभावित है इसलिए राखी के साथ-साथ उसने एक कागज की शीट पर तीन रंगों से एक बधाई संदेश भी लिखा है हाथ से लिखे इस बधाई संदेश को वह डाक के द्वारा पीएम नरेंद्र मोदी और देश के जवानों को भेजा है. मंत्रिता की कहानी पर गौर करें तो मंत्रिता अपनी मां की इकलौती संतान है, जब मंत्रिता दो की साल थी, तब से राखी का त्योहार मनाते देख रही है लेकिन जब भाई के बारे में पूछती थी. तो वह मायूस हो जाया करती थी फिर मंत्रिता की मां एकात्मता शर्मा जो कि एक समाजसेवा के काम से जुड़ी हैं. उन्होंने देश के सारे वीर जवानों को उसका भाई होना बताया, बस फिर क्या मंत्रिता हर साल अपने भाइयों को भेजने लगी भाई बहन के प्रेम का बंधन सूत्र.

दो साल पहले मंत्रिता ने देश के सैनिकों को राखी भेजने की शुरआत की. राखी के लिए 15 दिन पहले ही उसकी तैयारी शुरु हो जाती है, अपनी पसंद की राखियां तैयार करना ग्रीटिंग पर सैनिकों के लिए संदेश लिखना और इसके बाद राखियों और संदेश को और देश के जवानों को भेजती है. मंत्रिता ने इस बार जम्मू कश्मीर को लेकर उठाये गए कदम के लिए पीएम मोदी को बनाये गए ग्रीटिंग में कविताओं के सार में खुद की ओर देश की भावनाओं को उकेरा है. 

मंत्रिता की यह पहल उसके देश प्रेम और सैनिकों के प्रति सम्मान की प्रेरणा देती है. उसका मानना है कि वो भारत माता की बेटी है और रक्षा करने वाले सैनिक भारत माता के बेटे है, इस लिहाज से सैनिक ही उसके भाई और रक्षक की तरह है. साथ ही उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी का काम और जिस तरीके से जम्मू कश्मीर में धारा हटाने के बाद वह मोदी की प्रशंसक बन गई है. अब टीवी सीरियल के अलावा पीएम मोदी की प्रोग्राम देखना पसंद करती है इसलिए अबकी बार रक्षाबंधन के त्योहार पर मंत्रिता ने पीएम मोदी को भी एक बधाई संदेश के साथ राखी भी भेजी है. 

नन्ही मंत्रिता स्कूल और अन्य देश भक्ति के कार्यक्रमो में भी रानी लक्ष्मीबाई के देशप्रेम के नाटकों में अभिनय करती है. रानी लक्ष्मीबाई जैसा हौसला और इतनी सी उम्र में इतनी बड़ी सोच रखने वाली नन्ही मंत्रिता को देश सलाम करता है.