close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सक्षम डेयरीः कोर्ट ने दिए आदेश, संपत्ति बेचकर निवेशकों का पैसा लौटाए कंपनी

चिटफंड कंपनी सक्षम डेयरी में निवेश करने वाले लोगों को अब कंपनी की प्रॉपर्टी और गाड़ियां बेच कर पैसा दिया जाएगा. जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने इस मामले में आदेश दिए हैं, कि कंपनी की कुर्क की गई चल अचल संपत्तियों को बेच कर निवेशकों को राशि लौटाई जाए.

सक्षम डेयरीः कोर्ट ने दिए आदेश, संपत्ति बेचकर निवेशकों का पैसा लौटाए कंपनी
1122 निवेशकों ने कंपनी में पैसा जमा कराया था. इनकी राशि 6 करोड़ रुपए के करीब है. (प्रतीकात्कम तस्वीर)

करन मिश्रा/ग्वालियरः चिटफंड कंपनी सक्षम डेयरी में निवेश करने वाले लोगों को अब कंपनी की प्रॉपर्टी और गाड़ियां बेच कर पैसा दिया जाएगा. जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने इस मामले में आदेश दिए हैं, कि कंपनी की कुर्क की गई चल अचल संपत्तियों को बेच कर निवेशकों को राशि लौटाई जाए. सुनवाई के दौरान मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों के करीब 50 निवेशक भी मौजूद थे और इस आदेश के बाद सभी लोगों के चेहरे खुशी से भर गए और सभी एक-दूसरे को बधाई देने लगे.

दरअसल, कोर्ट में आई जानकारी के अनुसार 1122 निवेशकों ने कंपनी में पैसा जमा कराया था. इनकी राशि 6 करोड़ रुपए के करीब है. पिछली सुनवाई में कोर्ट ने कंपनी के संचालक आनंद शर्मा से देनदारियों के बारे में पूछा था तो उसने कहा था, कि कंपनी की जो संपत्तियां कुर्क है उन्हें बेच कर निवेशकों को पैसे दे दिए जाएं. मुझे कोई आपत्ति नहीं है. जिसके चलते कोर्ट ने इसके लिए आदेश दे दिए हैं साथ ही कलेक्टर को पत्र भेजकर इसके लिए कार्रवाई शुरू करने का आदेश भी दिया है.

दूसरे की टिकट पर हैदराबाद जाने की फिराक में था युवक, इंदौर एयरपोर्ट पर पकड़ा गया

देखें लाइव टीवी

दुर्लभ प्रजाति के सांप को मार गले में लटकाकर खा रहा था खाना, अब गुजरेगी जेल में रात

आपको बता दें, कि सक्षम डेयरी कंपनी में निवेश करने के लिए लोगों को रकम डेढ़ से 3 गुना होने का लालच दिया जाता था. अलग-अलग स्कीम में कंपनी ने इसका प्लान तैयार किया था. कंपनी ने 5 साल में डेढ़ गुना 6 साल में दोगुना और 7 साल में 3 गुना रकम करने का लालच लोगों को दिया था.

यहां आधार कार्ड बनवाने के लिए झोले में रोटी लेकर आते हैं लोग, कई दिनों का करना पड़ता है इंतजार

कंपनी का कारोबार मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा समेत अन्य राज्यों में भी फैला हुआ था और हजारों लोगों ने कंपनी में एफडी के तौर पर पैसा निवेश किया था. बरहाल, कोर्ट के दिए गए आदेश के बाद निवेशकों को राहत मिली है और अब जिला प्रशासन को कार्यवाही शुरू करना है.