निर्मला सीतारमण का बड़ा आरोप, 'कांग्रेस ने देश की जल, थल, वायु तीनों सेनाओं का दुरुपयोग किया'

निर्मला सीतारमण ने कहा, प्रत्येक देशवासी आज मोदी पर भरोसा करता है और देश को मोदी सरकार में सुरक्षित महसूस करते हैं. 

निर्मला सीतारमण का बड़ा आरोप, 'कांग्रेस ने देश की जल, थल, वायु तीनों सेनाओं का दुरुपयोग किया'
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

भोपाल: पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर अपनी ससुराल के लोगों के साथ एक द्वीप पर सैर सपाटा करने के लिए आईएनएस विराट का दुरुपयोग किये जाने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान का समर्थन करते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस ने देश की जल, थल और वायु तीनों सेनाओं का दुरुपयोग किया है.

मोदी द्वारा राजीव गांधी पर आईएनएस विराट का दुरुपयोग किये जाने पर की गई टिप्पणी पर पूछे गये सवाल के जवाब में सीतारमण ने कहा, ‘वर्ष 2013 के इंडिया टुडे की आउटलुक पत्रिका में इसके बारे में विस्तार से लिखा गया है. आईएनएस विराट को लेकर सारी जानकारी सार्वजनिक है. उसकी सबको जानकारी है.’

उन्होंने कहा कि आईएनएस विराट के चालक दल के सदस्यों ने भी स्वीकार किया है कि राजीव गांधी अपने परिवार वालों एवं ससुराल वालों के साथ विराट में घूमते थे. उन्होंने कहा,‘इस पर नई सरकार क्या करेगी, उसके बारे में तो मैं अभी बोल नहीं पाऊंगी. लेकिन कांगेस ने सेना, नौसेना और वायुसेना का स्पष्ट दुरूपयोग किया है.’

'कांग्रेस आज सेना के मुद्दे पर घडियाली आंसू बहा रही है' 
सीतारमण ने कहा कि तीनों सेनाओं का दुरुपयोग करने वाली कांग्रेस आज सेना के मुद्दे पर घडियाली आंसू बहा रही है और हम (भाजपा एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी) पर सेना का राजनीतिकरण करने का आरोप लगा रही है.

मोदी सरकार के दौरान सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा,‘मोदी सरकार से पहले जो सर्जिकल स्ट्राइक हुई, उस पर मैं टिप्पणी नहीं करूंगी. इससे पहले अगर सर्जिकल स्ट्राइक हुई तो तब की (कांग्रेस नीत) सरकार ने उनकी बात क्यों नहीं की. जब हमने सर्जिकल स्ट्राइक की, उसके बाद ‘मीटू’ की क्यों बात कर रहे हैं.’

'पांच वर्षों में दुनिया में भारत का मान-सम्मान बढ़ा है'
उन्होंने कहा कि 2014 में भारत की जनता ने भाजपा को स्पष्ट बहुमत दिया था. जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मजबूत नींव रखने का काम किया. पांच वर्षों में दुनिया में भारत का मान-सम्मान बढ़ा है. हम इसी मजबूत नींव को लेकर आगे बढ़ रहे हैं. प्रत्येक देशवासी आज मोदी पर भरोसा करता है और देश को मोदी सरकार में सुरक्षित महसूस करते हैं. सीतारमण ने कहा,‘आतंकवाद के मामले में मोदी सरकार ने कतई नहीं बर्दाश्त करने की नीति अपनाई है.’

एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की विपक्ष के बारे में राय विपक्षी दलों के उनके ऊपर किये जा रहे हमलों की ही प्रतिक्रिया है. विपक्षी दल और नेता जिस तरह के अपशब्दों का इस्तेमाल प्रधानमंत्री के विरुद्ध कर रहे हैं, वे उसे ही एकत्र करके उन्हें वापस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास अब कोई मुद्दा नहीं बचा है, इसलिए वे इस तरह की भाषा का उपयोग कर रहे हैं. सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री अपने भाषणों में विपक्षी दलों और नेताओं के बारे में जो टिप्पणियां कर रहे हैं, उनमें से कोई भी नाजायज नहीं है.

'हम राजीव गांधी का पूरा सम्मान करते हैं'  
जब उनसे सवाल किया गया कि क्या आप राजीव गांधी को शहीद मानते हैं या नहीं तो उन्होंने कहा कि स्व. राजीव गांधी देश के प्रधानमंत्री रहे हैं और बाद में शहीद हो गए. हम उनका पूरा सम्मान करते हैं. लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि हम उनकी सरकार के कुशासन, उनकी सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार और उनकी नीतियों के बारे में बात नहीं कर सकते हैं.

उन्होंने कहा कि हम जब भी भोपाल गैस त्रासदी के आरोपी वारेन एंडरसन के भागने की चर्चा करेंगे, तो राजीव गांधी की सरकार का ही जिक्र आएगा. इसमें क्या गलत है? सीतारमण ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे के माध्यम से प्रधानमंत्री की छवि खराब करने के लिए खूब आरोप लगाए. लेकिन सीएजी, सुप्रीम कोर्ट आदि द्वारा दी गई व्यवस्थाओं से यह साबित हो गया कि इस सौदे में कुछ भी गलत नहीं हुआ और राफेल सौदा देशहित में है.

उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी ने यह (राफेल) मुद्दा उठाकर शेर की सवारी तो कर ली, अब उनसे शेर की पीठ से उतरते नहीं बन रहा. वह जानते हैं कि वह झूठ बोल रहे हैं, लेकिन इस मुद्दे को जारी रखना उनकी मजबूरी है.'