अंदरूनी भितरघात पड़ी बीजेपी को भारी, जानें क्या हैं गोहद में कांग्रेस की जीत के कारण?
X

अंदरूनी भितरघात पड़ी बीजेपी को भारी, जानें क्या हैं गोहद में कांग्रेस की जीत के कारण?

गोहद सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार शुरू से ही बढ़त बनाए हुए थे. लेकिन उनके जीतने के पीछे असली वजह कांग्रेस नेता गोविंद सिंह का प्रचार करना रहा.

अंदरूनी भितरघात पड़ी बीजेपी को भारी, जानें क्या हैं गोहद में कांग्रेस की जीत के कारण?
भोपालः भिंड जिले की गोहद सीट पर ग्वालियर और भिंड जिले के रहने वाले उम्मीदवार ही विधायक बनते आए हैं. इस बार गोहद में 54.42 प्रतिशत वोटर्स ने 15 उम्मीदवारों का भाग्य EVM में कैद रखा था. लेकिन 24 राउंड की मतगणना के बाद गोहद से कांग्रेस के मेवाराम जाटव ने जीत दर्ज की है. 
 
यहां कांग्रेस के मेवाराम जाटव को 63,486 तो बीजेपी के रणवीर जाटव को 51,583 वोट मिले. कांग्रेस उम्मीदवार ने 11,903 मतों से जीत दर्ज की. वोटिंग शुरू होने के समय ही कांग्रेस उम्मीदवार ने बढ़त बनाए रखी थी और अंततः बीजेपी उम्मीदवार को हार मिली. 
 
कौन खड़ा था मैदान में?
 
पार्टी उम्मीदवार वोट
कांग्रेस मेवाराम जाटव 63,486
बीजेपी रणवीर जाटव 51,583 

 

कांग्रेस प्रत्याशी के जीत के कारण
1. स्थानीय होने की वजह से कांग्रेस प्रत्याशी को मतदान में फायदा मिला है. 
2. भिंड जिले में कांग्रेस की एकजुटता की वजह से उम्मीदवार में लगभग 12 हजार मतों से जीत दर्ज की. 
3. बीजेपी की अंदरूनी भितरघात का फायदा कांग्रेस ने उठाया है. 
 
बीजेपी प्रत्याशी के हार के कारण
1. बीजेपी के रणवीर जाटव ने पिछला चुनाव जीता था, लेकिन दलबदलने का नुकसान उन्हें उठाना पड़ा.
2. बीजेपी में अंदरूनी भितरघात की वजह से भी प्रत्याशी को हार का मुंह देखना पड़ा. 
3. कांग्रेस नेता डॉ. गोविंद सिंह का गोहद में सवर्ण मतदाताओं का रुख कांग्रेस की ओर मोड़ना बीजेपी की हार की वजह बना. 
 
पिछले चुनावों में क्या रहा परिणाम?
पिछले 11 चुनावों में 5 बार बीजेपी, 3 बार कांग्रेस, 1 बार बसपा और 2 बार बीजेएस पार्टी के उम्मीदवार को जीत मिली है. 
 
2018 विधानसभा चुनाव 
2018 चुनाव में 1,29,800 मतदाताओं ने 59.32 प्रतिशत मतदान किया था. तब कांग्रेस के रणवीर जाटव ने 48.58 प्रतिशत वोट हासिल किए थे, तो वहीं उनके विरोधी बीजेपी के लाल सिंह आर्य को 30.07 प्रतिशत वोट मिले थे. दोनों के बीच जीत का अंतर 23,989 वोटों का रहा था. तो वहीं बसपा उम्मीदवार जगदीश सिंह सागर 11.94 प्रतिशत वोट हासिल कर तीसरे स्थान पर रहे थे. 
 
2013 विधानसभा चुनाव 
2013 चुनाव में 1,13,265 वोटर ने 59.15 प्रतिशत मतदान किया था. तब बीजेपी के लाल सिंह आर्य ने 45.65 प्रतिशत वोट हासिल कर कांग्रेस के मेवाराम जाटव को 19814 वोटों के अंतर से हराया था. कांग्रेस उम्मीदवार ने चुनाव में 28.16 प्रतिशत वोट हासिल किए थे. तो वहीं बसपा के फूल सिंह बरैया तीसरे स्थान पर रहे थे.
 
2008 विधानसभा चुनाव
2008 चुनाव में 91,412 मतदाताओं ने 55.17 प्रतिशत मतदान किया था. तब कांग्रेस के माखनलाल जाटव, बीजेपी के लाल सिंह आर्य को 1,553 वोटों नजदीकी अंतर से हराने में कामयाब रहे थे. तो वहीं इस उपचुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार मेवाराम जाटव ने बसपा की ओर से चुनाव लड़ा था और तीसरे स्थान पर रहे थे. 

WATCH LIVE TV

Trending news