PM किसान सम्मान निधि योजना में हुए 5 बड़े बदलाव, आप भी जानिए यहां

पीएम-किसान सम्मान निधि योजना के तहत, छोटे और सीमांत किसान परिवारों को तीन बराबर किस्तों में हर साल 6,000 रुपये की मदद मिलती है.

PM किसान सम्मान निधि योजना में हुए 5 बड़े बदलाव, आप भी जानिए यहां
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: साल बदलने के साथ ही भारत सरकार की कुछ योजनाओं में भी बदलाव हुए हैं. अब तक लाखों छोटे किसानों को लाभ पहुंचा रही पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) में भी कुछ बड़े बदलाव (Changes in PM kisan samman nidhi) किए गए हैं. अगर आप इस योजना के हितग्राही है तो इस योजना के बदलाव जानना बेहद जरूरी है. अब तक केंद्र सरकार (Central Government) ने इस योजना के तहत सात किस्तों में किसानों के खाते में राशि भेजी है. बता दें कि इस वक्त दस करोड़ से ज्यादा किसानों को इस योजना का लाभ मिल रहा है.

यह भी पढ़ेंः- PM किसान सम्मान: इन राज्यों के लाखों किसानों की फंसी 7वीं किस्त, नहीं मिला 2000 रुपया, जानिए वजह

पीएम किसान सम्मान निधि में हुए महत्तवपूर्ण बदलाव-

किसान क्रेडिट कार्ड
पीएम किसान स्कीम से किसान क्रेडिट कार्ड (KCC, Kisan Credit Card) को जोड़ा गया है. इसके साथ ही अब प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों के लिए केसीसी बनवाना आसान हो गया है. बता दें कि केसीसी (KCC) के जरिए किसानों को बैंक से 7 फीसदी की ब्याज दरों पर लोन मिलता है. हालांकि इसमें हर साल पर समय से ब्याज मात्र चुकाने से ब्याज का तीन प्रतिशत किसान को वापस मिल जाता है जिस लिहाज केसीसी पर मात्र किसान को 4 प्रतिशत का ही ब्याज देना होता है.

सीधे मिलेगा मानधन योजना का लाभ
योजना में एक बड़ा बदलाव ये हुआ है कि पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहे किसान को अब पीएम किसान मानधन योजना के लिए कोई दस्तावेज नहीं देना होगा. इस योजना के तहत किसान पीएम-किसान स्कीम से प्राप्‍त लाभ में से सीधे ही अंशदान करने का विकल्‍प चुन सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः- असली और नकली Aadhar Card के बीच कैसे करें पहचान? जानिए 10 पॉइंट्स में

आधार कार्ड हुआ जरूरी
अगर आप पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम का लाभ लेना चाहते हैं तो सबसे जरूरी आपका आधार है. बिना आधार के आप इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते. सरकार ने लाभार्थियों के लिए आधार अनिवार्य कर दिया है. योजना की शुरुआत में केवल उन किसानों को इसका पात्र माना गया, जिनके पास कृषि योग्य खेती 2 हेक्टेयर या 5 एकड़ थी. अब मोदी सरकार ने यह बाध्यता खत्म कर दी है ताकि इसका लाभ 14.5 करोड़ किसानों को मिल सके.

आप स्वयं ही करा सकेंगे रजिस्ट्रेशन
पीएम किसान योजना का लाभ अधिक से अधकि किसानों तक पहुंचे, इसके लिए मोदी सरकार ने लेखपाल, कानूनगो और कृषि अधिकारी के चक्कर लागाने की बाध्यता ही खत्म कर दी. अब किसान अपना रजिस्ट्रेशन खुद कर सकते हैं वो भी घर बैठे. अगर आपके पास खतौनी,  आधार कार्ड, मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट नंबर है तो  pmkisan.nic.in  पर फामर्स कॉर्नर में जाकर खुद अपना रजिस्ट्रेशन कर लें.

यह भी पढ़ेंः- PM मोदी ने शेयर की जन शताब्दी एक्सप्रेस के विस्टाडोम कोच वाली ट्रेन की खूबसूरत तस्वीरें, आप भी देखें

मोबाइल पर जान सकेंगे रजिस्ट्रेशन स्टेटस
सरकार ने एक और बड़ा बदलाव किया कि आप रजिस्ट्रेशन के बाद अपना स्टेटस खुद चेक कर सकते हैं. जैसे आपके आवेदन की क्या स्थिति है, आपके बैंक अकाउंट में कितनी किस्त आ चुकी है आदि. अब पीएम किसान पोर्टल पर जाकर कोई भी किसान अपना आधार नंबर, मोबाइल या बैंक खाता नंबर दर्ज कर स्टेटस की जानकारी ले सकता है.

क्या है पीएम किसान योजना
पीएम-किसान योजना के तहत, छोटे और सीमांत किसान परिवारों को तीन बराबर किस्तों में हर साल 6,000 रुपये की मदद मिलती है.

यह भी पढ़ेंः- शतरंज में चमका MP का आयुषः 1 मिनट 55 सेकंड में भारत के 67वें ग्रैंडमास्टर को दी मात

WATCH LIVE TV