20 साल साथ देने के बाद बिछड़ा घोड़ा, अंतिम विदाई ऐसी की लोग भी हो गए भावुक

घोड़े की मौत के बाद गाजे-बाजे के साथ उसकी अंतिम यात्रा निकाली गई. जब शहर से निकलती शवयात्रा को जिसने भी देखा उसकी आंखे नम हो गई.

20 साल साथ देने के बाद बिछड़ा घोड़ा, अंतिम विदाई ऐसी की लोग भी हो गए भावुक

धमतरी: इंसान और जानवरों के बीच प्यार के कई किस्से आपने सुने होंगे. हाथी, कुत्ता और बंदर को लेकर फिल्में भी बन चुकी हैं, लेकिन धमतरी में मालिक और पालतू घोड़े का किस्सा एकदम अलग ही है. दरअसल छत्तीसगढ़ में एक मालिक को अपने घोड़े से इतना प्यार था कि उस घोड़े की मौत के बाद गाजे-बाजे के साथ उसकी अंतिम यात्रा निकाली गई. जब शहर से निकलती शवयात्रा को जिसने भी देखा उसकी आंखे नम हो गई.

नवविवाहित जोड़ा पहुंचा खजराना गणेश, गणपति के आशीर्वाद से पहले लगा डॉक्टर का टीका

बता दें धमतरी का कोई कस्बा हो या आसपास का क्षेत्र जिसने भी राजा और विक्की के प्यार और अंत का किस्सा सुना उसकी आंखें नम हो गईं. इस समय पूरे शहर में दोनों की प्रेम कहानी की चर्चा हर जुबान पर है.

वर्षों पुरानी दोस्ती टूटी
आज राजा घोड़े की मौत हो गई. अपने वफादार साथी की मौत के बाद उसके मालिक का इतना लगाव था कि उसके मरने के बाद घोड़े का इसानों जैसा अंतिम संस्कार किया. बैंड-बाजे के साथ राजा की अंतिम यात्रा निकाली गयी. घोड़े के साथ 20 साल की दोस्ती को याद करते हुए घोड़ा मालिक रोता रहा.

20 साल पहले लाया था राजा
धमतरी के गणेश चौक में रहने वाला विक्की ख़ुशी के कार्यक्रमों जैसे शादी, बर्थडे में बग्गी और घोड़ा किराए पर देने का काम करता है. उसके पास 20 साल से राजा और रानी नाम की घोड़ी थी. जिन्हें विक्की अपने परिवार के सदस्य की तरह रखता था. राजा, रानी और विक्की मिल कर पूरे परिवार को चलाते थे. लेकिन अचानक राजा की मौत से विक्की को गहरा सदमा लगा है, वहीं रानी भी अब अकेली हो गई है.

MP पुलिस ने अर्धनग्न हालत में मिली युवती के साथ जो किया, उसे सुनकर घिन आ जाएगी

राजा के साथ बच्चे खेलते थे
विक्की ने बताया हमारे घर के बच्चे भी उसके साथ खेला करते थे, लेकिन अब वो चला गया है, जिसके चलते हमारे सामने बड़ी परेशानी खड़ी हो गई है. विक्की राजा को याद करते हुए भावुक हो गया और उनका गला भर आया. वहीं, राजा के जाने के बाद आस-पास के लोग भी काफी दुखी हैं.

WATCH LIVE TV