केंद्र की प्रसाद योजना में अमरकंटक शामिल, विश्वस्तरीय सुविधाएं के लिए तीर्थ स्थल को मिला 50 करोड़ का बजट

 अमरकंटक में विकास कार्यों का शिलान्यास गुरुवार को केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया. 

केंद्र की प्रसाद योजना में अमरकंटक शामिल, विश्वस्तरीय सुविधाएं के लिए तीर्थ स्थल को मिला 50 करोड़ का बजट
सांकेतिक तस्वीर.

अनूपपुर: मां नर्मदा के उद्गम स्थल के विकास के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने प्रसाद योजना (Pilgrimage Rejuvenation And Spirituality Augmentation Drive) के तहत अमरकंटक का चयन किया है. केंद्रीय पर्यटन विभाग ने अमरकंटक सहित मध्य प्रदेश के 5 अन्य धार्मिक स्थलों को भी प्रसाद योजना में शामिल किया है.अन्य धार्मिक स्थलों की तुलना में अमरकंटक के विकास हेतु सबसे अधिक राशि दी जा रही है, जो करीब 50 करोड़ रुपए तय की गई है. इसके तहत अमरकंटक में विकास कार्यों का शिलान्यास गुरुवार को केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया. 

एक गांव जिसने आज तक खादी को अपनाए रखा, यहां खादी ही पहनते हैं बुजुर्ग

क्या है प्रसाद योजना ?
तीर्थयात्रा कायाकल्प और आध्यात्मिक संवर्धन अभियान (Prasad) एक राष्ट्रीय मिशन है. इसे केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा वर्ष 2014-15 में शुरू किया गया था. यह योजना धार्मिक स्थलों के पर्यटन अनुभव को समृद्ध करने के लिए देश भर के तीर्थ स्थलों की पहचान और उनके विकास पर केंद्रित है. इसका मुख्य उद्देश्य सभी राज्यों के प्रमुख धार्मिक स्थलों को टूरिस्ट फ्रेंडली बनाना और पर्यटन के लिहाज से विश्वस्तरीय सुविधाओं का विकास करना है.

अमरकंटक का प्रस्ताविक विकास कार्य इस प्रकार है

कुंड के जल-शुद्धिकरण हेतु लगेगा वॉटर फिल्टर
मां नर्मदा के उदगम स्थल पर प्रसाद योजना के अंतर्गत कुंड के जल शुद्धिकरण के लिए वॉटर फिल्टर लगाया जाएगा. इस कुंड में 38 लाख 23 हजार रूपये की लागत से वॉटर फिल्टर के माध्यम से जल का शुद्धिकरण होगा. निर्माण कार्य में नर्मदा नदी पर 7.81 करोड़ की लागत से पेडेस्ट्रियन पुल का निर्माण भी किया जाएगा.

मंदिर की विद्युत सज्जा, भोजन परिसर बनेगा
प्रसाद योजना के अंतर्गत मां नर्मदा के उद्गम स्थल पर 4.12 करोड़ रुपए की लागत से सौंदर्यीकरण, संरक्षण एवं दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए कार्य किए जाएंगे. सोलर पैनल लगाये जायेंगे. मंदिर को मोनोक्रोमेटिक लाइटिंग से सुसज्जित किया जाएगा. इसके अलावा परिक्रमा परिसर में 55 लाख 33 हजार की लागत से भोजन परिसर का निर्माण होगा.

इन्द्र दमन ताल, दक्षिण तट का जीर्णोंद्धार होगा
इन्द्र दमन ताल एवं दक्षिण तट के सौन्दर्यीकरण के लिए 17 करोड़ 72 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं. मां नर्मदा के दक्षिणी तट पर 16 करोड़ 11 लाख की लागत से लैंड स्केपिंग, उद्यान चेन लिंक फेसिंग, पाथ-वे कार्य, स्टोरी पैनल, सीसीटीवी, टॉयलेट एवं कपड़े बदलने के लिए कियोस्क, वाहन पार्किंग, स्टोन बेंच आदि निर्माण कार्य किए जाएंगे. 

दूसरे चरण में 50 से अधिक उम्र वालों को लगेगा टीका, PM मोदी समेत कई राज्यों के CM भी आएंगे दायरे में

बनेगा विशाल कथा मंडप
प्रसाद योजना के अंतर्गत तीर्थ-यात्रियों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए विशाल कथा मंडप का निर्माण किया जाएगा. एक करोड़ 32 लाख रुपए की लागत से बनने वाला यह कथा मंडप 1290 वर्ग मीटर क्षेत्र में बनाया जाएगा. इसके अलावा 2 करोड़ 14 लाख की लागत से टूरिस्ट फेसिलिटी सेंटर बनाया जाएगा, जिसमें ऑडियो विजुअल हॉल, लैंड स्केपिंग, डेकोरेटिव बेंच एवं आंतरिक रोड सहित अन्य कार्य किए जाएंगे. माई की बगिया, सोनमुझ एवं कपिलधारा का सौन्दर्यीकरण कर उसे और अधिक आकर्षक बनाया जाएगा.

WATCH LIVE TV