कोरोना ने दो मासूमों से छीन लिए मां-बाप, लोगों ने बनाई दूरी, घंटों पेड़ के नीचे खड़े रहे बच्चे

छत्तीसगढ़ में जगलपुर से लगभग 50 किलोमीटर दूर बास्तानार में दो मासूम बच्चों के सिर से कोरोना ने माँ-बाप का साया छीन लिया. 

कोरोना ने दो मासूमों से छीन लिए मां-बाप, लोगों ने बनाई दूरी, घंटों पेड़ के नीचे खड़े रहे बच्चे
पेड़ के नीचे खड़े दो मासूम

बस्तर: छत्तीसगढ़ में जगलपुर से लगभग 50 किलोमीटर दूर बास्तानार में दो मासूम बच्चों के सिर से कोरोना ने माँ-बाप का साया छीन लिया. रायगढ़ निवासी व बास्तानार हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य भागीरथी योगरे (39) की शनिवार की रात अस्पताल में कोरोना से निधन हो गया. वहीं उनकी पत्नी संतोषी योगरे (35) ने घर में कोरोना से दम तोड़ दिया. बच्चों ने मां को उठाने की कोशिश की लेकिन वह उठी नहीं.

अवैध रूप से बनाए जा रहे पटाखे में विस्फोट, धमाका इतना भयंकर की छत उड़ी, तीन की मौत

बच्चे घंटो खड़े रहे पेड़ के नीचे
जब मां उठी नहीं तो बच्चों ने पड़ोस में रहने वाले अंकल को बोला कि मां उठ नहीं रही है, तब जाकर पता चला की मां कि मौत हो चुकी है. इसके बाद मासूम बच्चे पेड़ के नीचे घंटों खड़े रहे लेकिन संक्रमण के डर से मदद के लिए कोई पास नहीं आया. 

थाना प्रभारी ने शुरू की कार्रवाई
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कोडेनार थाना प्रभारी संतोष सिंह अपनी टीम के साथ पहुंचे, जिन्होंने बच्चों के लिए खाने की व्यवस्था की, और बिना डरे आगे की कार्रवाई की गई.

शराब की होम डिलीवरी शुरू होते ही क्रैश हुआ APP, बिक गई 4.32 करोड़ रुपये की शराब

मुख्यमंत्री ने बच्चों देखभाल संज्ञान में लिया
फिलहाल बच्चों को उनके चाचा रतीराम ओगरे रायगढ़ ले गये हैं, जहां बच्चों की देखभाल को लेकर खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संज्ञान लिया है और आदेश दिया है कि बच्चों की देखरेख में कोई कमी ना हो. बता दें कि भागीरथी सरकारी कर्मचारी भी थे, जिसके बाद शासन की तरफ से भी राशि जल्द स्वीकृत होगी. वहीं बस्तर कलेक्टर रजन बंसल ने बताया कि साढ़े तीन लाख रुपये की राशि बच्चों को स्वीकृत हो जाएगी.

WATCH LIVE TV