नाबालिग की डिलीवरी कराई, पैदा होते ही नवजात को बेचा, एक छोटी गलती ने खोल दी पोल

खंडवा में नाबालिग लड़की का प्रसव और नवजात बच्चे की खरीद-फरोख्त का भंडाफोड़ हुआ है. ये तब हुआ जब अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ बच्चे को बेचने की तैयारी में थे.

नाबालिग की डिलीवरी कराई, पैदा होते ही नवजात को बेचा, एक छोटी गलती ने खोल दी पोल

प्रमोद सिन्हा/खंडवा: खंडवा में नाबालिग लड़की का प्रसव और नवजात बच्चे की खरीद-फरोख्त का भंडाफोड़ हुआ है. ये तब हुआ जब अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ बच्चे को बेचने की तैयारी में थे. इस मामले में पुलिस ने शहर के कथित डॉ. सौरभ सोनी, स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रेणु सोनी सहित पांच आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है. सौरभ सोनी डॉक्टर रेणु सोनी का दामाद है. इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब बच्चे की देखरेख कर रही महिला ने शक होने पर पुलिस से शिकायत की.

MP Board 12th Result: इसी हफ्ते जारी होगा 12वीं का रिजल्ट, इस तरह मिलेंगे मार्क्स

दरअसल लगभग 1 हफ्ते पहले एक 15 वर्षीय नाबालिक लड़की का प्रसव डॉक्टर सौरभ सोनी के माध्यम से स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रेणु सोनी ने अपने नर्सिंग होम में किया था. प्रसव होने के बाद परिजन लड़की को अपने घर ले गए लेकिन नवजात बच्चे को अस्पताल में ही सौंप गए थे.

इस तरह हुआ खुलासा
डॉक्टर सौरभ सोनी और डॉक्टर रेणु सोनी के स्टाफ में काम कर रहे दो युवकों ने इस नवजात बच्चे को रामनगर में रहने वाली एक महिला को 500 रुपये में तीन-चार दिन के लिए दूध पिलाने के लिए दे दिया था. तीन दिन बाद जब यह दोनों रात में इस महिला से बच्चा वापस लेने पहुंचे तब इस महिला ने बच्चा देने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि इस बच्चे की मां को ले आओ मैं बच्चा दे दूंगी. उसे इन लोगों पर शक भी हुआ. सुबह उसने खंडवा पुलिस अधीक्षक के पास पहुंच कर पूरे मामले की शिकायत कर दी. इस शिकायत के आधार पर पुलिस अधीक्षक ने एक टीम बनाकर इसकी गोपनीय जांच करवाई तब यह भंडाफोड़ हो गया.

इस मामले में पूरी टीम संदिग्ध
इस पूरे मामले में ये भी खुलासा हुआ है कि डॉक्टर सौरभ सोनी फार्मास्यूटिकल एजेंसी चलाता है और इसी तरह के मामले डॉ. रेणु सोनी के साथ मिलकर प्रसव करवाता है. यह भी पता चला है कि दोनों डॉक्टरों के स्टाफ में काम करने वाले दो युवक मोहसिन खान और कमलेश पटेल इस तरह के नवजात बच्चों की खरीद-फरोख्त में सक्रिय रहते हैं. जो बच्चों को बेचने के लिए ग्राहक ढूंढते थे. इन्होंने ही इस बच्चे नवजात बच्चे को जरूरतमंद संपत्तियों को बेचने की तैयारी की थी.

ऐसे जज्बे से ही जीतेंगे हम: जान जोखिम में डालकर इस बीमारी की दवा पहुंचा रहे स्वास्थ्य कर्मी

पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज
पुलिस ने इस पूरे प्रकरण में 2 डॉक्टर एक नर्स और इन डॉक्टरों के स्टाफ के दो युवकों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट, जुवेनाइल एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है. फिलहाल 4 लोगों को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ जारी है. पुलिस ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से भी इन डॉक्टरों और उनके नर्सिंग होम के मामले में जानकारी मांगी है.

WATCH LIVE TV