Lockdown के बाद मुफ्ती-ए-आजम का संदेशः मस्जिद में न करें भीड़, अब इस तरह अदा करें नमाज

Ramadan 2021: मुफ्ती-ए-आजम ने सभी से अपील की है कि कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी से बचने के लिए रमजान के मुबारक माह में आवश्यक सावधानियां बरतें.

Lockdown के बाद मुफ्ती-ए-आजम का संदेशः मस्जिद में न करें भीड़, अब इस तरह अदा करें नमाज
प्रतीकात्मक तस्वीर

कर्ण मिश्रा/जबलपुर: देश में 12 अप्रैल से रमजान का महीना शुरू हो गया, जिसे मध्य प्रदेश में भी मनाया जा रहा है. लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के कई इलाकों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है. जबलपुर में भी इस वक्त लॉकडाउन है, जिसे देखते हुए मुफ्ती-ए-आजम ने प्रदेश के मुस्लिम धर्मावलंबियों से घर में ही नमाज अदा करने की अपील की.

'नमाज के लिए मस्जिद में न हों एकत्रित'
मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश हजरत मोहम्मद हामिल अहमद सिद्दीकी ने मुस्लिम धर्मावलंबियों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की. उन्होंने सभी से अपील की है कि कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी से बचने के लिए रमजान के मुबारक माह में आवश्यक सावधानियां बरतें. इस दौरान नमाज के लिए मस्जिद में एकत्रित होने के बजाय घर में रहकर ही नमाज अदा करें.

यह भी पढ़ेंः- कोविड पॉजिटिव था अपराधी, नहीं मिली एम्बुलेंस, पुलिस ने पहनी PPE किट और पैदल ही ले गए जेल

'समाजजनों से की ये अपील'
उन्होंने कहा कि इफ्तार-ए-आम का आयोजन कर भी लोगों को इकट्ठा न करें. इसकी जगह खाने के पैकेट बनाएं और जिनके लिए दावत रखना चाहते हैं, सीधे उनके घर ही पहुंचा दें. इफ्तार में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना मुश्किल है, ऐसे में जरूरी है कि आप सभी जरूरी सावधानियां बरतें.

सोशल मीडिया की अफवाहों से बचें
उन्होंने कहा कि इस बार कोरोना पिछली बार से भी ज्यादा खतरनाक रूप में आया है. इसलिए सुकून और इत्मीनान के साथ तराबीह भी घरों में ही पढ़ें. प्रशासन द्वारा बनाई गई गाइडलाइन सभी की भलाई के लिए ही है, इसलिए उनका पालन अवश्य करें. उन्होंने सोशल मीडिया पर चल रहीं अफवाहों से भी दूर रहने का संदेश दिया.

यह भी पढ़ेंः- Coronavirus को लेकर पूर्व सीएम कमलनाथ ने सरकार को घेरा, मंत्री ने आइफा अवार्ड का उठा दिया मुद्दा

यह भी पढ़ेंः- शिक्षक बोले- हमें भी मिले कोरोना वॉरियर्स का दर्जा, सरकार को पत्र लिख 9वीं-11वीं के छात्रों के लिए की ये मांग

WATCH LIVE TV